MP के 77 लाख किसानों को सीएम शिवराज सिंह का तोहफा, खातों में राशि ट्रांसफर

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि हमने तय किया कि किसान को सस्ती बिजली मिले। इसलिए मध्यप्रदेश सरकार लगभग 21 हजार करोड़ रुपये की बिजली सब्सिडी प्रदान कर रही है।

सीएम शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज शनिवार को मध्य प्रदेश के किसानों (MP Farmers) को बड़ी सौगात दी है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री किसान-कल्याण योजना (CM Kisan Kalyan Yojana) में प्रदेश के 44 जिलों के किसानों के खातों में किसान सम्मान निधि की राशि अंतरित की।इस योजना में 77 लाख किसानों को 1540 करोड़ रूपये सिंगल क्लिक से खातों में अंतरित किए गए। राज्य शासन द्वारा दी जा रही यह राशि वित्तीय वर्ष 2021-22 की है। इस कार्यक्रम में आदर्श आचरण संहिता वाले जिलों को शामिल नहीं किया गया है।

यह भी पढ़े… Electricity Bill: त्यौहारों से पहले बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत, कर सकेंगे ये काम

इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि हमने तय किया कि किसान को सस्ती बिजली मिले। इसलिए मध्यप्रदेश सरकार (MP Government) लगभग 21 हजार करोड़ रुपये की बिजली सब्सिडी (electricity subsidy) प्रदान कर रही है। मैं किसान भाइयों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि बढ़ती कीमतों और लागत के बावजूद सिंचाई के लिए बिजली की कमी नहीं आने दी जाएगी। हमारा लक्ष्य वर्ष 2025 तक प्रदेश में 65 लाख हेक्टेयर भूमि पर सिंचाई की व्यवस्था हो। इसके लिए हम पानी की आधुनिक तकनीक से व्यवस्था करेंगे, साथ ही पुराने तालाबों, बावड़ी और अन्य जल स्रोतों को भी जिंदा करेंगे।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि हमने पाइप लाइन के जरिये नदियों से खेतों तक पानी पहुंचाने का कार्य किया है। नर्मदा मैया को क्षिप्रा मैया, गंभीर नदी, कालीसिंध नदी, पार्वदी नदी से जोड़ा।हमने जगह-जगह सिंचाई की योजनाओं का जाल बिछाकर सिंचाई की क्षमता बढ़ाकर 42 लाख हेक्टेयर कर दी । पहले सब तरह के अन्न की कुल पैदावार 2 करोड़ मीट्रिक टन थी। अब 6 करोड़ मीट्रिक टन उत्पादन हो रहा है। जो कृषि विकास की दर कभी डेढ़ दो प्रतिशत हुआ करती थी वह बढ़कर 18 प्रतिशत हो गई। 7 बार मध्यप्रदेश को कृषि कर्मण अवार्ड मिला।इसमें सबसे बड़ा योगदान सिंचाई की योजनाओं का योगदान है।

यह भी पढ़े.. MP में रिटायर्ड IAS की बहू को JCB से कुचलने की कोशिश! सामने आया वीडियो

सीएम शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh Chouhan) ने कहा कि भगवान के बाद अगर मेरे लिए कोई श्रद्धा का केंद्र है तो वह मेरे किसान हैं।अगर मैं कहूं कि सही अर्थों में आप अन्नदाता भी हैं और प्रदेश के भाग्य विधाता भी हैं तो अतिश्योक्ति नहीं होगी। प्रदेश की हरियाली और खुशहाली के लिए जो दिन और रात काम करते हैं। ऐसे किसानों को मैं शीष झुकाकर प्रणाम करता हूं।कृषकों के कारण आज देश के अन्न भंडार भरे हुए हैं। हम गेहूं, धान और चना भी खरीद रहे हैं। अब तो एक साल में तीन-तीन फसलें होने लगी है। मूंग की भी बंपर पैदावार हो गई और उसके दाम बाजार में गिर गये, तो हमने समर्थन मूल्य पर 4 लाख मीट्रिक टन मूंग खरीदा, ताकि किसान को घाटा न होने पाये।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि हम किसानों के लिए विविधीकरण खेती के उपाय बढ़ा रहे हैं, जिससे उनकी आय दोगुनी से ज्यादा हो सके। अलग-अलग प्रकार की पैदावार से किसान परंपरागत खेती के साथ अतिरिक्त आय भी कर सकते हैं।हम 1 नवंबर से अभियान शुरू करेंगे, जिसमें किसानों के अविवादित खाते तैयार किए जाएंगे। परिवार के सदस्यों की खेती की जमीन के अलग-अलग खाते होंगे।15 हजार करोड़ लागत से ग्रामीण क्षेत्रों में नल के माध्यम से हर घर में जल पहुंचाने का काम चल रहा है।अब मेरी बहन, बेटियों को हैंडपम्प तक पानी के लिए नहीं जाना पड़ेगा