पूर्व मंत्री जालम सिंह पटेल के पत्र से मचा तहलका, EOW से की ये बड़ी मांग

पूर्व मंत्री ने आरोप लगाया कि संचालक और बिल्डर ने महज कुछ सालों के अंदर ही करोड़ों रुपए की गैरकानूनी ढंग से अपनी संपत्ति अर्जित कर ली है।

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के पूर्व राज्य मंत्री और गोटेगांव से विधायक जालम सिंह पटेल (Jalam Singh Patel) ने एक बार फिर अपने पत्र से पूरे प्रदेश में तहलका मचा दिया है। पूर्व मंत्री (former miniter) ने इस बार EOW को पत्र लिखा है। अपने इस पत्र में पूर्व राज्य मंत्री जालम सिंह पटेल ने कहा है कि सिटी अस्पताल (CT Hopsital) के संचालक सरबजीत सिंह की संपत्ति की जांच की जाए। उन्होंने यह भी लिखा है कि उनकी इस संपत्ति में कई राजनैतिक और रसूखदार लोग बराबर के हिस्सेदार हैं।

Read More: मोदी सरकार ने मप्र को दी बड़ी राहत, 5116 करोड़ रूपए आवंटित, जल्द शुरू होगा काम

पूर्व मंत्री ने आरोप लगाया कि सिटी अस्पताल के संचालक और बिल्डर सरबजीत सिंह ने महज कुछ सालों के अंदर ही करोड़ों रुपए की गैरकानूनी ढंग से अपनी संपत्ति अर्जित कर ली है। उनकी इस संपत्ति में कई राजनीतिक लोग भी बराबर के हिस्सेदार हैं। जिनकी जांच होना चाहिए।सरबजीत सिंह मोखा के खिलाफ पहले भी कई आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं और अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावशाली व्यक्तियों के दम पर सरबजीत सिंह मोखा ने अपनी काली कमाई सिटी अस्पताल में निवेश की है। जिसकी की जांच होना चाहिए।

Read More: पूर्व मंत्री का इलाज के दौरान हृदयाघात से निधन, सीएम ने जताया शोक

पूर्व राज्य मंत्री जालम सिंह पटेल ने EOW को लिखे पत्र में कहा है कि सरबजीत सिंह मोखा ने कोरोना काल के दौरान जबलपुर संभाग के कई शहरों के अस्पताल में अच्छा खासा निवेश किया है और उन अस्पतालों को किराए पर ले रखा था। इस तरह की सुगबुगाहट नरसिंहपुर जिले में भी पिछले कई दिनों से सुनाई दे रही है। बताया यह भी जा रहा है कि शहर के किसी निजी अस्पताल को सरबजीत सिंह मोखा ने फरवरी माह में किराए पर लिया था।

पूर्व मंत्री जालम सिंह पटेल के पत्र से मचा तहलका, EOW से की ये बड़ी मांग