Shivraj के सिंगल क्लिक से किसानों को होगा यह बड़ा फायदा, कांग्रेस ने की आपत्ति

CM Shivraj ने भावुक अंदाज में कहा कि "एक एकड़ वाला हो, आधा एकड़ वाला हो, मेरे बहनों और भाइयों।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chouhan) शनिवार को किसानों (farmers) के खाते में डेढ़ हजार करोड़ रू डालेंगे। सुबह 11:30 बजे होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर कांग्रेस ने आपत्ति जताई है और चुनाव आयोग (election commission) में शिकायत की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) शनिवार को सुबह 11:30 बजे किसानों के खाते में डेढ़ हजार करोड़ रुपए डालेंगे।

यह राशि मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना का भाग है जिसके तहत मुख्यमंत्री साल भर में हर किसान को 4000 रू देते हैं। इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी और उनके द्वारा 6000 रू प्रति किसान प्रतिवर्ष दिए जाते हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पृथ्वीपुर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए बताया कि जब वे मुख्यमंत्री बने तब उन्होंने सोचा कि जब प्रधानमंत्री 6000 रू दे रहे हैं और अगर राज्य सरकार इसमें 4000 रू और मिला देती है तो किसानों को फायदा होगा।

शिवराज ने भावुक अंदाज में कहा कि “एक एकड़ वाला हो, आधा एकड़ वाला हो, मेरे बहनों और भाइयों। मोदी जी ने तय किया 6000 रू देंगे। मेरे दिल में आया, मामा तू भी चौथी बार बना है, 4000 तू ही डाल दे। फिर 6000 और 4000 मिलाकर 10000 कर दिए।”

Read More: Raisen News: गुमशुदा हुए बीजेपी विधायक! रिपोर्ट दर्ज करने सौंपा गया ज्ञापन

हालांकि कांग्रेस को शिवराज की इस घोषणा पर आपत्ति है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को की गई शिकायत में कांग्रेस के महामंत्री जेपी धनोपिया ने लिखा है कि वर्तमान में उपचुनाव चल रहे हैं और बीजेपी शिवराज के द्वारा सिंगल के द्वारा राशि डाले जाने के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण प्रत्येक मंडल में बड़ी स्क्रीन लगाकर कर रही है।

यह सीधे-सीधे चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन है और उपचुनाव वाले क्षेत्रों में इन कार्यक्रमों का प्रसारण या क्रियान्वयन 30 अक्टूबर तक नहीं होना चाहिए। कांग्रेस की आपत्ति पर पलटवार करते हुए बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य सुरेंद्र शर्मा ने कहा है कि “कांग्रेस को गरीब, किसान हर वर्ग को मिलने वाली मदद से आपत्ति होती है। यही राशि अगर किसी उद्योगपति के खाते में जा रही होती तो कमलनाथ और उनके अनुयाई मुंह तक नहीं खोलते। चाहे गरीबों के लिए आपका राशन आपके द्वार योजना हो या फिर किसानों को मिलने वाली राशि, कांग्रेस के पेट में दर्द होता ही है।”