IMD Alert : मानसून ने बदली दिशा, दो चक्रवाती सिस्टम एक्टिव, 15 राज्यों में 10 सितंबर तक बारिश का ऑरेंज-येलो अलर्ट, जानें पूर्वानुमान

बिहार के 30 जिलों में मूसलाधार बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश में एक बार फिर से बारिश (heavy rainfall) का दौर शुरू हो गया। IMD Alert ने 15 राज्य में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं कई राज्यों में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ (flood) की स्थिति निर्मित हो गई है। उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा सहित केरल, कर्नाटक में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त बना हुआ है। वही जल्दी एक नया सिस्टम (new weather system) उड़ीसा में बनने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग की मानें तो बंगाल की खाड़ी और उड़ीसा में एक निम्न दाब का क्षेत्र तैयार हो रहा है। जिसके कारण मध्य भारत और उत्तर पूर्व भारत में भारी बारिश (today weather update) का दौर देखा जाएगा जबकि उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश में बारिश का ऑरेंज येलो अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग ने कई राज्य में बारिश बारिश की चेतावनी जताई है। छत्तीसगढ़ उड़ीसा तेलंगना कर्नाटक में आज भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया। इसके अलावा राजधानी दिल्ली में आज आसमान में बादल छाए रहेंगे। हालांकि बारिश की संभावना से पूरी तरह से इंकार कर दिया गया है।मध्य प्रदेश की बात करें तो आज राजधानी भोपाल में बारिश की संभावना जताई गई है। इसके अलावा उत्तराखंड के देहरादून में आज भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है जबकि हिमाचल प्रदेश में भी बारिश का दौर जारी रहेगा।

नई दिल्ली का मौसम

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज आसमान में बादल छाए रहेंगे। कुछ जगह पर बूंदाबादी देखने को मिल सकती है हालांकि बारिश की संभावना से इनकार किया गया है। न्यूनतम तापमान 26 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है।

यूपी का मौसम

उत्तर प्रदेश की बात करी तो मौसम विभाग ने विपरीत मानसून ट्रक के पलटी मार दी है। इसके कारण एक बार फिर से तापमान में वृद्धि के संकेत दिए हैं। ट्रफ सामान्य अवस्था में उत्तर पश्चिम दिशा की ओर आगे बढ़ रहा है। जिसके कारण उत्तर प्रदेश में बारिश की संभावना से इनकार किया गया है। कश्मीर से लेकर गुजरात तक वर्षा होने की संभावना एक तरफ जहां आगे बढ़ी है। वहीं गंगा के मैदानी भाग में एक बार फिर से धूप और गर्मी की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में बारिश की संभावना से पूरी तरह से इनकार कर दिया है। जबकि पश्चिमी यूपी के 10 जिलों में बूंदाबादी का अलर्ट जारी किया गया है।

बिहार का मौसम

बिहार में मंगलवार को भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। दरअसल कई इलाकों में बाढ़ से जनजीवन प्रभावित है। वही बिहार के 30 जिलों में मूसलाधार बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है। मौसम विभाग की माने तो बिहार की राजधानी पटना समेत 30 जिलों में मंगलवार को मौसम के करवट लेने की आशंका जताई गई है। इसके साथ ही वज्रपात को लेकर भी अलर्ट जारी किया गया है।

Read More : गूगल ने अपने यूजर्स को हैकिंग से बचने के लिए क्रोम को तुरंत अपडेट करने की दी सलाह

झारखंड का मौसम

झारखंड में को फिर से मानसून सक्रिय हो गया। मौसम विभाग ने 6 सितंबर को राज्य में कई इलाकों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना जताई है। वहीं 10 सितंबर तक झारखंड के कई जगहों पर बादल छाए रहेंगे। कहीं-कहीं भारी मूसलाधार बारिश का ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है।अधिकतम तापमान 31 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है। गिरिडीह के अलावा गुमला, बोकारो, धनबाद और संथाल परगना में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया। मौसम केंद्र की माने तो रांची सहित आसपास के इलाकों में आज 7 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है।

बंगाल उड़ीसा का मौसम

इसके अलावा बंगाल और उड़ीसा मैं भी बारिश का दौर जारी रहेगा। दरअसल 6 से 12 सितंबर तक दक्षिण उड़ीसा जिलों में व्यापक बारिश गतिविधियों के लिए येलो और ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं वरिष्ठ वैज्ञानिकों की मानें तो 8 सितंबर के आसपास बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवाती घेरा तैयार होगा। जिसके प्रभाव से पश्चिम में अगले 48 घंटे में एक कम दबाव का क्षेत्र निर्मित होने की संभावना है।

मौसम विभाग की माने तो कम दबाव के क्षेत्र के कारण दक्षिण उड़ीसा के 8 जिले गंजम मलखान गिरी कोरापुट नवरंगपुर रायगढ़ पूरी गणपति जगह पर भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

वेदर सिस्टम

एक तरफ जहां पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव के क्षेत्र निर्मित होंगे। वहीं दूसरी तरफ के मध्य क्षेत्र के तरफ बढ़ने से एक बार फिर से भारी बारिश की शुरुआत देखी जा सकती है। वही 8 और 9 सितंबर के बीच कई राज्यों में मौसम में बदलाव अलर्ट जारी किया गया है।

वहीं दूसरी तरफ मानसून अपने विपरीत अवस्था में चला गया है। ट्रफ का पूर्वी सिरा जहां सामान्य अवस्था में उत्तर पश्चिम की ओर है। वहीं दक्षिणी सिरे एक बार फिर से दक्षिण पूर्व की ओर पहुंच गया है। जिसके कारण कश्मीर से गुजरात तक फिर से बारिश की संभावना देखने को मिलेगी। वहीं गंगा के कृषि बेल्ट में फिर से धूप और गर्मी की शुरुआत देखी जा सकती है।

MP CG का मौसम

इधर मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में भी बूंदाबांदी का दौर जारी रहेगा। बारिश की गतिविधियों में बढ़ोतरी हो सकती है। हालांकि मौसम विभाग ने भारी बारिश से इनकार किया है। मौसम विभाग का कहना है कि इन क्षेत्रों में आज बारिश की संभावना बन रही है। मध्यप्रदेश में एक तरफ जहां राजधानी भोपाल सहित अन्य आसपास के राज्य में बहुत सारे देखने को मिल सकती है। वहीं दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ के 10 जिलों में बारिश का दौर जारी रहेगा।

हिमाचल उत्तराखंड पर्वतीय राज्य का मौसम

पर्वती राज्य में मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इसके लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया। मौसम विभाग ने भूस्खलनाची की समस्या से लोगों को सचेत रहने की सलाह दी है। मौसम विभाग का कहना है इन राज्यों में 4 से 5 दिनों तक मौसम ऐसे बने रहने की संभावना जताई गई है। वज्रपात की आशंका भी मौसम विभाग ने जताई है।

केरल कर्नाटक दक्षिण का मौसम

केरल कर्नाटक सहित दक्षिणी राज्य में भारी बारिश का कहर जारी है। केरल में एक तरफ जहां अब लगातार हो रही बारिश से बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई है। वहीं कर्नाटक के कई हिस्सों में बारिश का दौर अभी भी देखने को मिल रहा है। वहीं मौसम विभाग ने अगले 7 दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया। इसके लिए रेड ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। गरज चमक की संभावना भी जताई गई है। बंगलुरु में 5 सितंबर की रात से हुई लगातार बारिश से सड़कों पर जलभराव हो गया है। आज सुबह-सुबह रेनबो ड्राइव लेआउट, सनी ब्रुक्स लेआउट और येमालुर सहित अन्य जगह पर स्थिति और जलभराव सामान्य है।

इसके अलावा केरल अंडमान निकोबार लक्ष्यद्वीप सहित पूर्वोत्तर भारत तेलंगना कर्नाटक में आज अति भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया। वहीं जम्मू कश्मीर लद्दाख झारखंड पश्चिम बंगाल पश्चिम महाराष्ट्र आदि राज्यों में भी तेज बारिश की संभावना जताई गई है।

गुजरात राजस्थान का मौसम

राजस्थान में को फिर से मानसून कमजोर पड़ गया है। जिसके सप्ताह के अंत तक फिर से सक्रिय होने की उम्मीद जताई गई। हालांकि चार पांच दिनों तक राज्य के कई हिस्सों में कमजोर मानसून की गतिविधि जारी रहेगी। भारी बारिश की संभावना से इनकार किया गया है। 9 से 10 सितंबर में एक बार फिर से बारिश की गतिविधियों में वृद्धि देखी जा सकती है। हालांकि इससे पहले तापमान में वृद्धि होगी। तापमान में 2 से 3 फीसद की वृद्धि से गर्मी उमस का अनुभव होगा।

पूर्वी भारत का मौसम

पूर्वी भारत की बात करें तो असम मेघालय मणिपुर नागालैंड मिजोरम अरुणाचल प्रदेश में बारिश का दौर जारी रहेगा। मौसम विभाग ने इन क्षेत्रों में 15 सितंबर तक भारी बारिश का अलर्ट किया है। इसके लिए ऑरेंज येलो अलर्ट जारी किया गया। मौसम विभाग ने भूस्खलन सहित बिजली गिरने की संभावना भी जताई है। लोगों को सावधान सचेत रहने का अलर्ट जारी किया गया है।