IMD Alert : दिल्ली सहित कई राज्यों में 28 जून के बाद बदलेगा मौसम, 15 राज्यों में 1 जुलाई तक बारिश का अलर्ट, इन क्षेत्रों में बढ़ेगा तापमान

इससे पहले उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्रों में बारिश रिकॉर्ड की गई है। इधर बिहार झारखंड में भी मौसम बदलने लगे। दरअसल आसमान में बादल छाने लगे हैं।

IMD Alert

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। IMD Alert के मुताबिक मंगलवार से एक बार पूरे देश में फिर से बारिश (Rainfall) का दौर शुरू हो जाएगा। दरअसल कई क्षेत्रों में गरज़ चमक के साथ भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया। वहीं IMD ने कहा है कि जल्दी राजधानी दिल्ली सहित उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में मानसून (Monsoon 2022) की दस्तक देखी जाएगी। जिसके बाद मानसून का सिलसिला शुरू हो जाएगा। इससे पहले उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्रों में बारिश रिकॉर्ड की गई है।

इधर बिहार झारखंड में भी मौसम बदलने लगे। दरअसल आसमान में बादल छाने लगे हैं। इसके अलावा कई क्षेत्रों में बूंदाबांदी का अलर्ट जारी किया गया है। उड़ीसा पश्चिम बंगाल सहित आंध्र प्रदेश में चमक के साथ बारिश कई अलर्ट जारी किया गया है जबकि उड़ीसा के कई क्षेत्रों में बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है। राजधानी दिल्ली में 3 जुलाई तक मानसून की दस्तक के साथ गरज़ चमक शुरू हो जाएगी। इसके अलावा राजस्थान गुजरात सहित मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी मौसम बदल रहा है, इन क्षेत्रों में बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है।

असम मेघालय मणिपुर सिक्किम गंगतोक सहित नागालैंड में 7 दिन तक लगातार बारिश देखने को मिलेगी। भारी बारिश के कारण असम में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई है। इसके अलावा कई क्षेत्रों में भी आवागमन ठप पड़ गया है। अगले कुछ दिनों में, पूर्वोत्तर भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अलग-अलग भारी वर्षा, गरज के साथ या बिजली गिरने के साथ बहुत व्यापक से व्यापक वर्षा होने की संभावना है। अगले पांच दिनों में, बिहार, झारखंड, ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल में गरज के साथ छिटपुट से मध्यम व्यापक बारिश या बिजली गिरने की संभावना है।

Read More : पेंशनर्स के लिए बड़ी अपडेट, अधिकारियों को पेंशन मंत्रालय ने जारी किए आदेश, मिलेगा पारिवारिक पेंशन-भुगतान, ग्रेच्युटी का लाभ

वहीं पश्चिमी तट पर एक्टिव 3 पश्चिमी विक्षोभ (Western disturbance)  का असर भी कई राज्यों में देखने को मिलेगा। महाराष्ट्र में पश्चिमी विक्षोभ के कारण क्षेत्र में बूंदाबांदी रिकॉर्ड की जाएगी। हालांकि मंगलवार से मौसम बदलने का सिलसिला शुरू होगा। इससे पहले तापमान में 2 फीसद की वृद्धि देखने को मिल सकती है।

भारत के पश्चिमी तट के कई क्षेत्रों में आने वाले दिनों में भीषण बारिश जारी रहेगी। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, अगले पांच दिनों तक पश्चिमी तट पर भारी बारिश की संभावना है।इस बीच, 27 जून से पूरे उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत में बारिश की गतिविधि बढ़ने की उम्मीद है। तटीय कर्नाटक, केरल, माहे और लक्षद्वीप में, गरज के साथ व्यापक बारिश या बिजली गिरने की उम्मीद है।

आईएमडी की मौसम संबंधी सलाह के अनुसार अगले 5 दिनों के दौरान आंतरिक कर्नाटक, महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में बहुत व्यापक वर्षा की उम्मीद है। गुजरात राज्य, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, यनम, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में छिटपुट वर्षा का अनुमान है। अगले 5 दिनों के लिए कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक, केरल और माहे और सौराष्ट्र के दक्षिणी हिस्सों में अलग-अलग भारी वर्षा की भविष्यवाणी की गई है।

मध्य महाराष्ट्र, आंतरिक कर्नाटक और दक्षिण गुजरात क्षेत्र के घाट क्षेत्रों में 26 और 29 तारीख को बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने 29 जून तक उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग गरज के साथ हल्की से मध्यम वर्षा के साथ छिटपुट हल्की से मध्यम बारिश का भी अनुमान लगाया है। छत्तीसगढ़, विदर्भ और मध्य प्रदेश में भी बारिश होगी।

वही तापमान की बात करें तो राजधानी में जहां जापान में 1 फीसद की वृद्धि होगी। वहीं अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक रिकॉर्ड किया जा सकता है जबकि बंगाल में न्यूनतम तापमान के 26 डिग्री व अधिकतम तापमान 37 डिग्री रहने की संभावना जताई गई है। बिहार में भी तापमान में अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस देखा जा सकता है। इसके अलावा झारखंड में तापमान 33 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा रहा है। वहीं न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई गई है। उत्तर प्रदेश की बात करें तो उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हुई बारिश के कारण तापमान में गिरावट रिकॉर्ड की गई है। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में तापमान में दो से तीन फीसद की गिरावट आई।

इधर मध्यप्रदेश में भी तापमान में 2 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है जबकि राजस्थान में तापमान 34 डिग्री गुजरात में अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस हरियाणा और पंजाब में तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। इधर महाराष्ट्र, गोवा सहित केरल-कर्नाटक-तमिलनाडु में भारी बारिश के कारण मौसम सुहावना बना हुआ है। न्यूनतम तापमान 22 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।