Lockdown: राज्य में फिर लगेगा लॉकडाउन! सामने आया स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा बयान

Lockdown! इस बीच, भारत ने अब तक लगभग दो दर्जन ओमाइक्रोन मामले दर्ज किए हैं।

लॉकडाउन
लॉकडाउन

मुंबई, डेस्क रिपोर्ट। देश में कोरोना (corona) के नए वेरिएंट ओमाइक्रोन (omicron) मामले में लगातार वृद्धि लॉकडाउन (Lockdown) की आशंका को बढ़ा रही है। अकेले महाराष्ट्र (maharashtra) में अब तक 10 नए मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इसके अलावा देश के तीन चार राज्य में भी नए वेरिएंट (varient) की पुष्टि हो चुकी है। इसी बीच आशंका जताई जा रही है के जल्द ही कोरोना के नए वेरिएंट के फैलाव को देखते हुए लॉकडाउन (lockdown) लगाया जा सकते हैं।

इस पर स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा बयान सामने आया है। ओमाइक्रोन के डर और नागरिकों को आशंका है कि क्या फिर से लॉकडाउन लगाया जाएगा। इस बीच राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने स्पष्ट किया कि कोरोना वेरिएंट की गंभीरता कम है और लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।

मीडिया को जानकारी देते हुए मंत्री टोपे ने कहा महाराष्ट्र में आज तक कुल 10 ओमाइक्रोन मामले हैं। जीनोम स्क्वैंचिंग के लिए लगभग 65 स्वैब भेजे गए हैं, उनकी रिपोर्ट का इंतजार है। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर स्क्रीनिंग की जा रही है। ओमाइक्रोन वेरिएंट अब तक 54 देशों में फैला हुआ है। इसके फैलाव की क्षमता अधिक है। हालांकि इसकी गंभीरता कम है। इसलिए हमें घबराने की जरूरत नहीं है।

Read More: बालिकाओं के लिए CM Shivraj के बड़े ऐलान, मिलेगी अन्य सुविधाएं, राज्य स्तर पर होगा आयोजन

उन्होंने आगे कहा हम अभी तक राज्य में किसी भी लॉकडाउन के बारे में नहीं सोच रहे हैं। केंद्र, मुख्यमंत्री और राज्य टास्क फोर्स ने ऐसा कोई निर्देश नहीं दिया है। हम स्थिति पर बारीकी से नजर रखेंगे और मार्गदर्शन के बाद किसी भी प्रतिबंध पर कॉल करेंगे।

ओमाइक्रोन वेरिएंट का का मुकाबला करने के लिए महाराष्ट्र की रणनीति के बारे में पूछे जाने पर, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हम 3T सिद्धांत के साथ काम कर रहे हैं – ट्रैकिंग, ट्रेसिंग और परीक्षण। जीनोम स्क्वैंचिंग के लिए, वर्तमान में तीन प्रयोगशालाएं हैं। नागपुर में इस सुविधा का और विस्तार किया जायेगा।

इस बीच, भारत ने अब तक लगभग दो दर्जन ओमाइक्रोन मामले दर्ज किए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बुधवार को सभी राज्यों को अंतरराष्ट्रीय यात्रियों और उनके संपर्कों के साथ-साथ उभरते हॉटस्पॉट के सकारात्मक मामलों के सभी सैम्पल्स जमा करने को कहा है।

कोरोना के एक नए वेरिएंट को पहली बार 25 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) को सूचित किया गया था। WHO के अनुसार, पहला ज्ञात बी.1.1.1.529 ओमाइक्रोन वेरिएंट इस साल 9 नवंबर को देखने को मिला था। 26 नवंबर को, WHO ने नए कोरोना वैरिएंट B.1.1.529 का नाम दिया, जिसे दक्षिण अफ्रीका में ‘ओमाइक्रोन’ के रूप में पाया गया है। WHO की माने तो ओमाइक्रोन डेल्टा से चार गुना ज्यादा खतरनाक है।