MP News: आगामी चुनाव से पहले BJP में नवाचार, जिला पदाधिकारी को सौंपी गई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी

जिसको लेकर बीजेपी किसी भी तरह की गलती दोहराना नहीं चाहती है।

BJP ऑफिस

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) में आगामी चुनाव (upcoming election) को देखते हुए दोनों पार्टियों ने कमर कस ली है। वहीं प्रदेश में बैठकों का दौर शुरू हो गया। इसी बीच बीते दिनों भारतीय जनता पार्टी (BJP) के शीर्ष नेतृत्व ने मंत्रियों की बैठक ली। इस दौरान संगठन को मजबूत करने और जनसंवाद को बढ़ाने के साथ उपचुनाव की तैयारियां को देखते हुए नए नवाचार किए गए हैं।

अब प्रदेश संगठन ने मंत्रियों के कामकाज पर शीर्ष नेतृत्व ने नजर बना ली है। अब मंत्रियों को अपने प्रभार वाले जिलों में सत्ता और संगठन के समन्वय के साथ कार्य करना होगा। इसके अलावा CM Shivraj ने मंत्रियों को अपने प्रभार वाले जिले में सप्ताह में 2 दिन आवश्यक रूप से रहने के निर्देश दिए हैं। इतना ही नहीं अगले विधानसभा चुनाव और आगामी उप चुनाव को देखते हुए BJP ने नए नवाचार किया। जिसके मुताबिक मंत्रियों के कार्य का मूल्यांकन रिपोर्ट (evaluation report) अब जिला संगठन के पदाधिकारी तैयार करेंगे।

बता दें कि BJP लगातार कार्यकर्ताओं की नाराजगी कि शिकायत का सामना कर रही है। वहीं अगर बात 2018 के विधानसभा चुनाव की की जाए तो कार्यकर्ताओं की नाराजगी का खामियाजा बीजेपी को भुगतना पड़ा था और वह सत्ता से बाहर हो गई थी। इसको देखते हुए बीजेपी अब कार्यकर्ताओ की महत्ता को अधिक महत्व दे रही है।

Read More: MP News: PHQ ने राज्य शासन को भेजा प्रस्ताव, इस तरह भरे जाएंगे DSP के पद!

मामले में भाजपा के प्रदेश मंत्री रजनीश अग्रवाल (rajneesh agarwal) का कहना है कि बूथ पर काम करने वाले कार्यकर्ता हो या नेतृत्व करने वाले। सभी की भूमिका संगठन में समान है और समान रूप से है। सभी एक दूसरे के पूरक हैं। सभी को मिलकर काम करना होगा। सभी कार्यकर्ता हैं और संगठन के लिए काम करते हैं।

वहीं प्रभार वाले जिलों में मंत्रियों के दौरे की गतिविधि रिपोर्ट के आधार पर तय की जाएगी। भविष्य में मंत्रिमंडल के गठन में इन रिपोर्टों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। आगामी विधानसभा चुनाव में जीत के बाद धरातल पर उतर कर काम करने वाले मंत्रियों की दक्षता की परीक्षा ली जाएगी और इस में पास होने वाले मंत्री को भविष्य में मंत्रिमंडल के गठन या पुनर्गठन में महत्वपूर्ण भूमिका दी जा सकेगी।

बीते दिनों में BJP संगठन की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने मंत्रियों को साफ निर्देश दिया कि अब स्वागत सत्कार से दूर होकर काम करने की आवश्यकता है। CM Shivraj ने कहा कि अब मंत्रियों को धरातल पर उतर कर जनता से जनसंवाद बढ़ाना होगा। जनता की समस्याओं को सुनकर उसका निराकरण करना होगा। बता दें कि मध्य प्रदेश में आगामी उपचुनाव (upcoming by-election) में BJP एड़ी चोटी का जोर लगाना चाहती है। उपचुनाव में जीत का मतलब आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी का पक्ष मजबूत होना है। जिसको लेकर बीजेपी किसी भी तरह की गलती दोहराना नहीं चाहती है।