MP Panchayat Election : चुनाव पर आई बड़ी अपडेट, अधिकारी कर्मचारियों को मिले ये निर्देश

MP Panchayat election: वहीं मतदान केंद्र बढ़ाने या घटाने की संख्या पर भी विस्तार से आकलन की मांग की गई है।

पंचायत चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में नगरीय निकाय चुनाव (urban body elections) से पहले पंचायत चुनाव (MP Panchayat Election) कराने की तैयारी की जा रही है। वहीं अधिकारी कर्मचारियों का प्रशिक्षण अगले सप्ताह से शुरू किया जा रहा है। राज्य निर्वाचन आयोग (state election commission) द्वारा सभी अधिकारी कर्मचारियों को प्रशिक्षण कार्यालय में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं। माना जा रहा है कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव November-दिसंबर के महीने में कराए जा सकते हैं।

इससे पहले राज्य निर्वाचन आयुक्त (state election commissioner) बसंत प्रताप सिंह (Basant Pratap Singh) द्वारा गुरुवार को पंचायत चुनाव की तैयारियों को लेकर समीक्षा की जाएगी। इस दौरान निर्वाचन आयुक्त कलेक्टर से EVM मशीन की उपलब्धता सहित मतदान केंद्र, अधिकारी-कर्मचारियों के पहचान पत्र, प्रशिक्षण सहित मतदाता सूची की जानकारी प्राप्त करेंगे।

राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन-2021 की तैयारियों के संबंध में कलेक्टर्स एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ 21 अक्टूबर को प्रात: 10 बजे से 11 बजे तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा करेंगे। कलेक्टर देवास, खंडवा, बुरहानपुर, खरगौन, निवाड़ी, टीकमगढ़, सतना और अलीराजपुर वी.सी. में शामिल नहीं होंगे।

Read More: दिवाली का तोहफा, कर्मचारियों के लिए सरकार ने की Bonus की घोषणा

बता दें कि मध्य प्रदेश में 23000 से ज्यादा पंचायत के साथ 313 जनपद में 52 जिला पंचायत के चुनाव कराए जाने हैं। इसके लिए चुनाव आयोग द्वारा अपने स्तर से पूरी तैयारी की गई है। साथ ही मतदान केंद्रों के भौतिक सत्यापन के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। वहीं मतदान केंद्र बढ़ाने या घटाने की संख्या पर भी विस्तार से आकलन की मांग की गई है।

पंचायत चुनाव के लिए जिला पंचायत अध्यक्ष पद का आरक्षण होना बाकी है। जिसे नवंबर के पहले सप्ताह में शुरू किया जा सकता है। वहीं सूत्रों की माने तो शासन स्तर पर भी प्रदेश में पंचायत चुनाव के लिए तैयारी शुरू कर दी गई है। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा EVM मशीन के पहले दौर की जांच को पूरा कर लिया गया है। साथ ही दीपावली के बाद जिला पंचायत के अध्यक्ष पद के आरक्षण की कार्यवाही के निर्देश पर राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा दिए जा सकते हैं। इसके लिए तैयारी शुरू कर दी गई है।

प्रदेश में पंचायत के चुनाव होने हैं। जहां प्रदेश के कुल 407 नगर निकाय में से 307 का कार्यकाल 25 सितंबर 2020 को समाप्त हो चुका है। जबकि आठ नगर निकाय का कार्यकाल जनवरी और फरवरी 2021 में पूरा हो चुका है। इसके अलावा 3 स्तरीय पंचायत में पंच सरपंच जनपद सदस्य का कार्यकाल भी मार्च 2021 में समाप्त हो चुके हों। जबकि 29 नगर परिषदों में चुनाव होना भी बाकी है।