MP पंचायत चुनाव : नामांकन की प्रक्रिया पूरी, आज आवंटित होंगे चुनाव चिन्ह

एक तरफ जहां जिला पंचायत के लिए कुल 39 चुनाव चिन्ह तय किए गए हैं। वही जनपद पंचायत के लिए 23 चुनाव चिन्ह उपलब्ध होंगे।

पंचायत चुनावों

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्यप्रदेश में पंचायत चुनाव (MP panchayat Election) से पहले ओबीसी आरक्षण (OBC Reservation) का मामला जहां सुप्रीम कोर्ट (supreme court) पहुंच गया है। वहीं त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में नामांकन पत्र (nomination)  की जांच की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। आज गुरुवार से उम्मीदवारों को चुनाव चिन्ह (election symbol) का आवंटन किया जाएगा। बीते दिनों चुनाव आयोग (state election commission) ने बड़ा फैसला लेते हुए चुनावी प्रक्रिया को संचालित करने के निर्देश दिया कि चुनाव परिणाम घोषित करने पर रोक लगा दी।

हालांकि जिला पंचायत जनपद सहित सरपंच और पद के उम्मीदवारों को इस बार पसंदीदा चुनाव चिन्ह उपलब्ध नहीं होंगे। इसके लिए नवीन व्यवस्था की गई है। उम्मीदवारों के नाम के पहले अक्षर से चुनाव चिन्ह तय किए गए। कर्म के आधार पर उन्हें चुनाव चिन्ह आवंटित करवाए जाएंगे बता दें कि निर्वाचन आयोग द्वारा जिला पंचायत जनपद पंचायत सहित सरपंच और पंच के लिए अलग-अलग चुनाव चिन्ह तय किए गए हैं।

एक तरफ जहां जिला पंचायत के लिए कुल 39 चुनाव चिन्ह तय किए गए हैं। वही जनपद पंचायत के लिए 23 चुनाव चिन्ह उपलब्ध होंगे। सरपंच के लिए 24 चुनाव चिन्ह तय किए गए हैं। पंच के लिए 10 चुनाव चिन्ह को संचित किया गया है। दरअसल चरण 1 और 2 के लिए नामांकन पत्र प्राप्त करने की अंतिम तिथि 20 दिसंबर थी जबकि चरण 3 के लिए, नामांकन 6 जनवरी को बंद हो जाएगा। नामांकन पत्रों की जांच 21 दिसंबर को चरण 1 -2 की जाँच पूरी ली गई है पहले और दूसरे चरण के लिए उम्मीदवारी वापस लेने और चुनाव चिन्ह आवंटन की अंतिम तिथि 23 दिसंबर है।

Read More : MP Corona: आज फ़िर 19 पॉज़िटिव, एक्टिव केस 170 पार, ओमिक्रोन को लेकर सरकार अलर्ट

दरअसल पंचायत चुनाव के लिए पहले चरण के लिए 6 जनवरी को, दूसरे चरण के लिए 28 जनवरी को और तीसरे चरण के लिए 16 फरवरी को सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक मतदान होगा। पंच और सरपंच पदों के लिए वोटों की गिनती मतदान समाप्त होने के बाद की जाएगी, हालांकि परिणाम बाद में घोषित होंगे।

इधर पंचायत चुनाव के लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षण देने का कार्य जारी है। ईवीएम मशीन के संचालन आदि के बारे में व्यावहारिक रूप से अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। वहीं जिला कलेक्टर द्वारा सभी जोनल और सेक्टर अधिकारियों को आवश्यक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं इसके अलावा चुनाव संपन्न कराने की सभी जिम्मेदारियों को पूर्ण रूप से संचालित करने के निर्देश चुनाव आयोग द्वारा दिए गए हैं।

EVM से जनपद पंचायत एवं जिला पंचायत सदस्यों के मतों की मतगणना प्रखंड विकास मुख्यालय पर 10 जनवरी को 1 और 2 चरण के लिए 1 फरवरी को होगी। हालांकि पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य, जिला पंचायत सदस्य के परिणामों की घोषणा के लिए अलग-अलग तिथि तय की गई थी। वहीँ नए आदेश के मुताबिक अब आयोग ने निर्देश दिया है कि जब तक आयोग अगला कोई निर्देश न दे, किसी भी स्थिति में कोई भी परिणाम घोषित नहीं किया जाएगा। जिसके बाद अब सारे परिणाम एक साथ आयोग के निर्देश के बाद ही आएंगे।