राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- वैक्सीन की इस गति से कई लहरें आयेंगी

राहुल गांधी ने सरकार से अपील की है कि वैक्सीन प्रक्रिया में तेजी लाई जाए। जहां कोरोना के मामले अधिक बढ रहे हैं। वहां अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेट किया जाए।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश में कोरोना संक्रमण के केसों में हो रही कमी के बीच कोरोना प्रबंधन (Corona management) पर कांग्रेस नेता  राहुल गांधी ने केंद्र सरकार (central government) को घेरने का काम किया है। मीडिया (media) से चर्चा करते हुए राहुल गांधी (rahul gandhi) ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा अब तक देश के कुल 3% आबादी को पूरी तरह से Vaccinate किया गया है जबकि अमेरिका (USA) में आधी आबादी को वैक्सीन लगा दी गई है। इतना ही नहीं राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को जब हमने और कई लोगों ने चेतावनी दी तो उन्होंने मजाक उड़ाया था लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) सहित केंद्र सरकार को अब तो कोरोना समझ में नहीं आया है।

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा यह कोरोना की दूसरी लहर है। जहां इस चीज की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री को लेनी चाहिए। प्रधानमंत्री ने अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई। इसलिए ऐसी स्थिति पैदा हुई। कई लोग मारे गए हैं। सरकार द्वारा मौत के आंकड़े छिपाए जा रहे हैं। जो हमारी मृत्यु दर है, वह झूठ है। साथ ही राहुल गांधी ने दावा किया कि अगर इस रफ्तार से देश भर में वैक्सीन (vaccine) का काम चलता रहा तो कोरोना की तीसरी, चौथी और 5वी लहर भी आएगी और वह इससे ज्यादा खतरनाक होगी। इसलिए केंद्र सरकार को जल्द से जल्द अपनी रणनीति में बदलाव करने की आवश्यकता है।

Read More: सड़क पर बेसुध होकर गिर पड़ी मां, रोने लगा बच्चा, फिर महिला कॉन्स्टेबल ने की मदद

राहुल गांधी ने कहा कि मैंने कांग्रेसशासित राज्य के सभी मुख्यमंत्री को आगाह किया है कि अपने राज्य के आंकड़े को नहीं छुपाए। अगर हम सच से भागेंगे तो हम लड़ाई नहीं कर पाएंगे। Lockdown लगाना एक अस्थाई समाधान हो सकता है लेकिन वैक्सीन एक स्थाई समाधान है। केंद्र सरकार के पास रणनीति का अभाव है। हमें अच्छी रणनीति की जरूरत है। साथ ही राहुल गांधी ने सरकार से अपील की है कि वैक्सीन प्रक्रिया में तेजी लाई जाए। जहां कोरोना के मामले अधिक बढ रहे हैं। वहां अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेट किया जाए। साथ ही संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए अस्थाई प्रयास जारी रखें जाए।