आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं के लिए राहत भरी खबर, होगी वेतन में वृद्धि, मिलेंगे अन्य लाभ, हड़ताल खत्म

साथ ही कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन पर पोषण सप्ताह मनाने का दबाव डाला जाता है लेकिन जरूरी खर्च का भुगतान नहीं किया जाता है।

7th pay commission

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं (Anganwadi workers) और सहायिकाओं के लिए अच्छी खबर है दरअसल डेढ़ लाख आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं को लाभ मिलेगा। उन्हें हर महीने 15 से ₹18000 वेतन दिए जाएंगे। इसके अलावा 2018 से काटे जा रहे 1500 ₹ का भुगतान भी उन्हें जल्दी शुरू किया जाएगा। इतना ही नहीं राशि का भुगतान भी एरियर (arrears) के साथ किए जाने की संभावना है। दरअसल नगरीय विकास और विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह (bhupendra singh) ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से मिलकर उन्हें यह भरोसा दिया है। जिसके बाद आखिरकार डेढ़ महीने से चल रही हड़ताल को खत्म कर दिया गया है।

दरअसल आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं नगर विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह से मुलाकात की। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका 10 मार्च से विरोध दर्ज करवा रही थी और हड़ताल पर थी। वहीं हड़ताल पर जाने की वजह से कामकाज प्रभावित हो रहे थे और आंगनबाड़ी केंद्र भी नहीं खोल रहे थे। जिससे काफी नुकसान हो रहा था। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का कहना है कि अधिकारी बार-बार ड्रेस कोड बदल देते हैं। जिसके कारण में बार-बार ड्रेस लेना पड़ता है। इसमें अतिरिक्त फीस का भुगतान भी नहीं किया जाता है।

Read More : छात्रों को मिली UGC और AICTE की चेतवानी, पाकिस्तान जाकर पढ़ाई ना करने की दी सलाह

साथ ही कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन पर पोषण सप्ताह मनाने का दबाव डाला जाता है लेकिन जरूरी खर्च का भुगतान नहीं किया जाता है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की मांग थी कि आंगनवाड़ी केंद्र का संचालन करने के लिए किराए के भवन का किराया तय समय पर चुकाया जाए। साथ ही शासक के भवन के खुलने वाले केंद्र के मासिक खर्च का भुगतान कराया जाए। शासकीय अवकाश के चलते आने-जाने की फीस का भुगतान भी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं सहायिकाओं को किया जाए। वही पोषण सप्ताह मनाने के लिए अतिरिक्त खर्च का वहन शासन की तरफ से किए जाने की व्यवस्था की जाए।

जिस पर मंत्री भूपेंद्र सिंह ने जल्दी कार्यकर्ताओं की मांग पर विचार करने और उसे पूरा करने का भरोसा दिया है। जिसके बाद माना जा रहा है कि हर महीने ₹15000 कार्यकर्ताओं को उपलब्ध कराए जाएंगे। वहीं उन्हें 2018 से काटे जा रहे ₹1500 का भुगतान भी जल्द शुरू किया जाएगा।