Summer Food Tips : तरबूज अंदर से मीठे हैं या नहीं, इस निंजा 5 तकनीक से करें पहचान

तरबूज का आकार सबसे पहले ये बता सकता है कि वो खुद कितना मीठा है।

लाइफस्टाइल, डेस्क रिपोर्ट। Summer Food Tips : फल (Fruits) वाले से जो तरबूज (watermelon) आप खरीदना चाहते हैं, वो मीठा है या नहीं। ये जानने का सिर्फ एक ही पुख्ता तरीका सब जानते हैं। वो ये कि तरबूज को कटवाकर उसे थोड़ा सा चख कर देखा जाए। लेकिन ये भी कहा जाता है कि तरबूज कटवाकर न लें। या कटा हुआ तरबूज ज्यादा दिन रखें भी नहीं। ऐसे में ये कैसे जानें कि तरबूज मीठा है या नहीं। कुछ आसान टिप्स (food Technique Tips) हैं। जिनके जरिए आप बिना तरबूज कटाए उसकी मिठास का अंदाजा लगा सकते हैं। इन टिप्स को समझ लिया तो आपको तरबूज बेचने वाला भी बेवकूफ बनाकर बेस्वाद तरबूज नहीं टिका सकेगा।

Read More : Health Tips : पीली हल्दी की तरह गुणकारी है काली हल्दी, जाने इसके औषधीय गुण, स्वाद में भी उत्तम

आकार से करें पता

तरबूज का आकार सबसे पहले ये बता सकता है कि वो खुद कितना मीठा है। तरबूज खरीदते समय ऐसे फल चुनें जो न बहुत बड़ा हो न बहुत छोटा। कई बार धूप और पानी कम ज्यादा होने से तरबूज का आकार या तो ज्यादा बड़ा हो जाता है या फिर ज्यादा छोटा। ऐसे केस में ज्यादा अच्छा ये है कि सामान्य आकार का तरबूज ही खरीदें।

वजन पर दें जोर

तरबूज की मिठास को परखना है तो ऐसा तरबूज खरीदें जो दिखने में भले ही छोटा हो लेकिन भारी हो। चाहें तो दो एक जैसे आकार के तरबूज उठाएं। जिसका वजन ज्यादा लगे वही तरबूज खरीदें। दरअसल पके और मीठे तरबूज की निशानी उसका वजन ही होता है।

उंगली से टैप करके देखें

तरबूज पर उंगली से थपथपा कर देखें। जिस तरह खाली और भरे बर्तन की आवाज में अंतर होता ,है उसी तरह मीठे और कम मीठे तरबूज की आवाज में भी अंतर होता है। तरबूज अच्छे से पका होगा तो उसके अंदर से भारी आवाज आएगी।

तरबूज खाने का तरीका

तरबूज खाने का तरीका भी समझ लेना जरूरी है। सीधे बाजार से खरीदकर तरबूज न खाएं। इसे कुछ देर पानी से भरी बाल्टी में रखें। इससे तरबूज की गर्मी शांत होती है। कम से कम एक घंटा तरबूज को फ्रीज में रहने दें इसके बाद ही उसे काटकर खाएं।