Transfer: तबादला सूची जारी करने पर सीएम शिवराज का बड़ा बयान, प्रभारी मंत्रियों को मिले ये निर्देश

shivraj

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan)  ने MP Board 12वीं के सफल छात्रों से वार्तालाप की। इस दौरान एक तरफ जहां उन्होंने छात्रों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। वहीं उनका हौसला अफजाई किया। सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने कहा मेहनत से हर लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। आप अपने लक्ष्य की और आगे बढ़े, भविष्य के लिए सबको मेरी शुभकामनाएं है।

वहीं मध्यप्रदेश में लगातार तबादले (transfer) पर हो रहे फर्जी सिफारिशों पर अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख्त रुख अख्तियार किया है। दरअसल मध्य प्रदेश में 1 जुलाई से तबादलों पर Ban को हटाया गया है। जिसकी अवधि को बढ़ाकर 7 अगस्त कर दिया गया। बावजूद इसके अब फर्जी नोटशीट (fake notesheet) के जरिए सिफारिश करने के मामले में सरकार एक्शन (action) में आ गई है। दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी मंत्रियों को यह निर्देश दिए हैं कि तबादलों के लिए विधायक (MLA) – सांसदों (MP) की अनुशंसा की गई प्रक्रिया को जांच करने के बाद ही स्वीकृति दें।

Read More:11 बार के विधायक रहे वरिष्ठ नेता का लंबी बीमारी के बाद निधन, CM ने जताया शोक

सीएम शिवराज ने कहा कि बिना जांच के कोई तबादला सिफारिश के आधार पर न की जाए। इतना ही नहीं CM ने कहा कि मंत्रियों को सिफारिश का सत्यापन करना होगा। जिन विधायकों ने अनुशंसा की है उनसे पूछने के बाद ही तबादला आदेश जारी कर किए जाएंगे।

मध्यप्रदेश में फर्जी तबादले नोट पर अब पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। क्राइम ब्रांच (crime branch) द्वारा लगातार इस मामले में जांच जारी है। वहीं 30 अधिकारियों को नोटिस भी भेजा गया है। माना जा रहा है कि किसी गिरोह ने सांसद विधायक के हस्ताक्षर तैयार किए Notesheet से तैयार की है और उसके जरिए फर्जी अनुशंसा प्रति सीएम हाउस भेज रहे हैं।

Read More: नेता तुम्हीं हो कल के…. BJP विधायक के 2 साल के पोते का डिबेट करते देखिए मजेदार VIDEO

ज्ञात हो कि पिछले कैबिनेट की मीटिंग में मंत्रियों द्वारा तबादले की तिथि को बढ़ाए जाने की मांग रखी गई थी। जिसे 31 जुलाई से बढ़ाकर 7 अगस्त किया गया था। अब तबादलों को लेकर जारी सिफारिशों के सत्यापन के बाद ही तबादला आदेश जारी किए जाएंगे। जानकारी के मुताबिक अब तक उच्च शिक्षा, जल संसाधन विभाग को छोड़कर दूसरे विभागों में तबादला आदेश जारी नहीं किए गए हैं। जबकि प्रभारी मंत्रियों के अनुमोदन के बाद तबादलों के आदेश अभी लंबित हैं।

अनुशंसा प्रति के सत्यापन के बाद तबादले के आदेश जारी किए जाने के निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रभारी मंत्रियों को दिए हैं। इस मामले में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) का कहना है कि फर्जी नोटशीट के जरिए तबादले की सिफारिश का मामला बेहद गंभीर है। इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं पुलिस विभाग को निर्देश दे दिया गया है। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।