मध्य प्रदेश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। नगरीय निकाय चुनाव (Urban body elections) से पहले प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Government) लगातार बड़े फैसले ले रही है। अब मप्र सरकार (MP Government) में पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव (PWD Minister Gopal Bhargava) ने बड़ी घोषणा की है, जिसके तहत प्रदेश की 20 ग्रामीण सड़कों को मुख्य जिला सड़क में शामिल किया जाएगा।खास बात ये है कि इन सड़को के निर्माण और रख-रखाव की जिम्मेदारी अब लोक निर्माण विभाग (Public Works Department) खुद उठायेगा।

यह भी पढ़े… MP : 11वीं और 12वीं के छात्रों के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने पूरा किया यह काम

आज लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा है कि स्थानीय जन-प्रतिनिधियों और निवासियों की मांग पर प्रदेश की 20 ग्रामीण सड़कों को मुख्य जिला सड़कों में सम्मिलित किया गया है। लोक निर्माण विभाग द्वारा स्थानीय जन-प्रतिनिधियों की मांग पर ग्वालियर संभाग (Gwalior Division) की 6 ग्रामीण सड़कों, मुरैना संभाग में श्योपुर जिले (Sheopur District in Morena Division) की 3 सड़कों, उज्जैन संभाग (Ujjain Division)की 7 सड़कों, भोपाल संभाग (Bhopal Division) में बैतूल जिले (Betul district) की 2 सड़कों तथा होशंगाबाद और बालाघाट जिले (Hoshangabad and Balaghat districts) की एक-एक ग्रामीण सड़क अब मुख्य जिला सड़कों में तब्दील होगी।

उन्होंने बताया कि मुख्य जिला सड़क के रूप में उन्नयन हो जाने से इन सड़कों का बेहतर रख-रखाव लोक निर्माण विभाग द्वारा किया जा सकेगा। इनके निर्माण और रख-रखाव के लिये सीआरआईएफ से भी आर्थिक मदद मिलना आसान होगा। ग्वालियर परिक्षेत्र के अंतर्गत डाडाखिरक से तिघरा मार्ग, गुप्तेश्वर मंदिर गोलपहाड़िया से मोती झील मार्ग, जोरासी-आतरी-ऐराया-कछौआ-बडकीसराय-छिमक मार्ग, खुरेरी- बिजोली- गुन्धारा-जिगनिया-गुहीसर मार्ग, सिमरिया टेकरी से हरिपुर तिराहा मार्ग, मकोड़ा से टेकनपुर।

यह भी पढ़े… MP Weather : मप्र में फिर करवट लेगा मौसम, इन जिलों में बारिश की संभावना

वही श्योपुर जिले के दातरदा से जैनी मार्ग, बाजरली-मकड़ावदा, कालापट्टा, बड़ोदा मसावनी से पहेला मार्ग को जिला मुख्य मार्ग में तब्दील किया गया है। इसी प्रकार होशंगाबाद परिक्षेत्र में बेराखेड़ी घुघवासा से बोरतलाई मार्ग, जबलपुर परिक्षेत्र के बालाघाट जिला अंतर्गत डोगरमाली से धोटी, झारडा से गोगोपुर व्हाया काचरिया सगवाली तरनौद कानाखेडी एकलासपुर मार्ग।

इसके अलावा उज्जैन परिक्षेत्र के अंतर्गत पाट से नारायण धाम डुंगरखेड़ा कासोनी निपानिया राजू जवासिया पंथ ईटावा डोंगला किटिया बरखेड़ा बुजुर्ग बालोद मार्ग, जज्जूखेड़ी काकेड़ से एसएच 41 व्हाया गोलाखेड़ी मंडी चौपाटी झारडा बस स्टेण्ड साकरिया माल्या मार्ग, झारडा कटन से ढाबला हुर्दु व्हाया मेढकी सुहागपुरा मु़डली भोज धनौड़िया मारूखेड़ी भोज धनौडिया मारूखेडरा कामल्याखेड़ी कला पिपलिया मार्ग, उज्जैन आगर मार्ग से बिछरोद मार्ग, उन्हेल करनावद कढ़ाई गुराडियासाग महिदपुर मार्ग, नादगा से गिदगढ़ निनावदाखेड़ा किलोडिया खुरमुण्डी झिरमिरा दिवेल चंदोड़िया तारोद-मोकड़ी मार्ग तथा भोपाल परिक्षेत्र अंतर्गत बैतूल जिले में भौरा-फोफलिया-टांडा-जोड़ तक मार्ग और भौरा-धपाड़ा-सातलदेही-चोपना मार्ग-सीवनपाट राज्य मार्ग क्र 45 के किमी 33/10 तक को जिला मुख्य मार्ग घोषित किया गया है।