mp

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। MP में पिछले 24 घंटे में 3844 नए प्रकरण सामने आए हैं।इसके बाद एक्टिव मरीजों की संख्या 62 हजार 53 हो गई है। पिछले 24 घंटे में 9327 मरीज स्वस्थ हुए हैं।इस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से घट रहा है। अब केवल प्रदेश के 4 जिलों भोपाल (13%), इंदौर (12%), रीवा (12%) तथा रतलाम (11%) में ही 10% से अधिक साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर है।

यह भी पढ़े.. खुशखबरी: केन्द्र का मध्य प्रदेश को बड़ा तोहफा, करोड़ों की इस कार्य-योजना को दी मंजूरी

कोरोना समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अब हमें आगामी 31 मई तक पूरे प्रदेश को कोरोना संक्रमण से मुक्त करने के हर संभव प्रयास करने हैं। हमें आगामी 1 जून से प्रदेश के सभी जिलों में, वहां की स्थिति अनुसार धीरे-धीरे चरणबद्ध रूप से कोरोना कर्फ्यू (MP Curfew) हटाना है।आज की पाजिटिविटी 4.8% है तथा साप्ताहिक पॉजिटिविटी 7.3% है। साप्ताहिक नए प्रकरण 36 हजार 684 हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज  ने उमरिया जिले की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि वहाँ मरीजों को दी जाने वाली मेडिकल किटस में कोरोना प्रोटोकाल के अनुसार ही एंटी बायोटिक व अन्य दवाएँ दी जाएँ। जिन क्षेत्रों में संक्रमण वहाँ माइक्रोकंटेनमेंट जोन बनाकर संक्रमण समाप्त किया जाए।शहडोल जिले (Shahdol District) की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि वहाँ मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाएँ बेहतर बनाई जाएँ। हेल्प डेस्क के माध्यम से मरीजों के संबंध में जानकारी उनके परिजनों को दी जाए। मरीजों के लिए पूरी व्यवस्थाएँ अस्पताल में हों तथा परिजनों को किसी भी हालत में अंदर नहीं जाने दिया जाए।

यह भी पढ़े.. MPPSC : राज्यसेवा परीक्षा स्थगित होने का नोटिफिकेशन निकला फर्जी, आयोग ने किया खंडन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अनूपपुर जिले (Anuppur District) की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि वहाँ कोल माइन्स में संक्रमण रोकने पर ध्यान दें। कोल माइन्स में 40 व्यक्ति संक्रमित हुए हैं।अस्पतालों द्वारा अधिक शुल्क लिए जाने के कुल 275 मामलों में 1 करोड़ 5 लाख रूपये की राशि मरीजों के परिजनों को वापस दिलाई गई है। भोपाल (Bhopal) के फ्रैक्चर अस्पताल द्वारा एक मरीज से ढ़ाई लाख रूपये अधिक लिए गए थे। कार्रवाई करते हुए यह राशि मरीज के परिवार को वापस दिलाई गई है। यह गंभीर मामला है, कार्रवाई की जाए।