खुशखबरी: केन्द्र का मध्य प्रदेश को बड़ा तोहफा, करोड़ों की इस कार्य-योजना को दी मंजूरी

इसी प्रकार 11 राष्ट्रीय राजमार्गों के 210 किलोमीटर के निर्माण में भू-अर्जन के लिये 526 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

मध्य प्रदेश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केन्द्र की मोदी सरकार (Modi Government) ने मध्य प्रदेश को एक बार फिर बड़ा तोहफा दिया है। केन्द्र सरकार (Central Government) ने मध्य प्रदेश में 724 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों के लिए 3856 करोड़ रुपए की वार्षिक कार्य-योजना को मंजूरी दे दी है। इस राशि से एमपी के 51 राष्ट्रीय राजमार्गों (National Highways) के सुदृढ़ीकरण, पुल और नवीन मार्गों के निर्माण का कार्य कराया जाएगा।इसके लिए लोक निर्माण मंत्री  गोपाल भार्गव (PWD Minister Gopal Bhargava) ने केंद्र सरकार का आभार व्यक्त किया है।

यह भी पढ़े.. 1 जून से अनलॉक की प्रक्रिया शुरु होने से पहले सीएम शिवराज सिंह का बड़ा बयान

दअसल, मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)  से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों के रख-रखाव, गुणवत्ता नियंत्रण, चौड़ीकरण, सुदृढ़ीकरण, पुल निर्माण तथा नवीन राजमार्गों के निर्माण की विस्तृत कार्य-योजना तैयार कर केन्द्र सरकार के सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (Ministry of Road Transport and Highways) को भेजी गई थी, जिसे केन्द्र सरकार द्वारा स्वीकृति प्रदान की गई है। इसके तहत 8 राष्ट्रीय राजमार्गों की 527 किलोमीटर सड़कों का चौड़ीकरण किया जायेगा। इस कार्य के लिये 2966 करोड़ रुपये की राशि की स्वीकृति दी गई है। इसी प्रकार 11 राष्ट्रीय राजमार्गों के 210 किलोमीटर के निर्माण में भू-अर्जन के लिये 526 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव  नीरज मण्डलोई ने बताया कि मध्य प्रदेश में 11 राष्ट्रीय राजमार्गों के विस्तार कार्य के लिए भू- अर्जन किया जाना है। इसके तहत NH-43 पवई बायपास पर 12 किलोमीटर, एनएच-943 कैथी-पडारीया कॅला बायपास पटना, तमोली बायपास, जासौ बायपास और नगोद बायपास 15 किलोमीटर, एनएच-552 मुरैना- अम्बाह बायपास 21 किलोमीटर, खिलचीपुर बायपास 5.50 किलोमीटर, पचौर-शुजालपुर-आष्टा बायपास 19 किलोमीटर, पोरसा-अटेर-प्रतापपुरा से भिंड बायपास 20 किलोमीटर, मिहोना-लहार-दवोह-भांडेर बायपास 19 किलोमीटर, बीरोरा बायपास 3 किलोमीटर, छतरपुर बायपास 15 किलोमीटर, हरपालपुर बायपास 10 किलोमीटर तथा श्यामपुर से सबलगढ़ तक 70 किलोमीटर मार्ग पर भू-अर्जन के लिए 526 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है।

यह भी पढ़े.. MPPSC : राज्यसेवा परीक्षा स्थगित होने का नोटिफिकेशन निकला फर्जी, आयोग ने किया खंडन

लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव  नीरज मण्डलोई NH-346 पर विदिशा से मैलुआ मार्ग पर 3 छोटे पुलों का निर्माण कराया जायेगा। इसके लिए 33 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है।स्वीकृत कार्ययोजना के अंर्तगत खलघाट-कसरावद-खरगौन-बिस्ठान रोड पर 4 किलोमीटर, टीकमगढ़-पृथ्वीपुर से ओरछा मार्ग पर 41 किलोमीटर, शहगढ़ से टीकमगढ़ रोड़ पर 36 किलोमीटर, इंदौर से बैतूल रोड़ पर 47 किलोमीटर, बालाघाट-नैनपुर रोड पर 4 किलोमीटर, बैतूल से आशापुर रोड़ पर 4 किलोमीटर तथा दौलखेड़ी चौराहा- मैलुआ चौराहा- कुरवाई रोड पर 60 किलोमीटर सड़कों का सुदृढ़ीकरण किया जायेगा।इसके साथ ही 6 राष्ट्रीय राजमार्गों के 194 किलोमीटर की डीपीआर तैयार करने के लिए 6 करोड़ रूपये तथा 22 राष्ट्रीय राजमार्गों के 112 किलोमीटर क्षेत्र में विभिन्न कार्यों के लिए 200 करोड़ रूपये की स्वीकृति प्रदान कि गई है।

यहां देखें कहां कितनी राशि स्वीकृत

  • राष्ट्रीय राजमार्गों पर यातायात की सुगमता के लिये 3 पुलों के निर्माण के लिये 33 करोड़ रुपये।
  • 7 राष्ट्रीय राजमार्गों के 197 किलोमीटर सड़क मार्गों के सुदृढ़ीकरण के लिये 125 करोड़ रुपये स्वीकृत ।
  • 22 राष्ट्रीय राजमार्गों पर 112 किलोमीटर क्षेत्र में सुदृढ़ीकरण सहित अन्य कार्यों के लिये 200 करोड़ रुपये।
  • प्रदेश में नवीन 194 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों की डीपीआर तैयार करने के लिये 6 करोड़ रुपये की राशि कार्य-योजना में स्वीकृत।
  • वर्ष 2021-22 की स्वीकृत वार्षिक कार्य-योजना में नसरुल्लागंज-रेहटी-बुधनी मार्ग में 47 किलोमीटर क्षेत्र के चौड़ीकरण के लिये 3 करोड़ 4 लाख 55 हजार रुपये स्वीकृत ।
  • जीरापुर सुसनेर से राजस्थान सीमा तक 47 किलोमीटर मार्ग के लिए 3 करोड़ 6 लाख 54 हजार।
  • कुरावाई, मुंगावली से चंदेरी तक 81 किलोमीटर के लिए 4 करोड़ 99 लाख।
  • डिंडौरी- सागर टोला 78 किलामीटर के लिए 3 करोड़ 29 लाख।
  • जीरापुर-पचौर बायपास को सम्मलित करते हुए 53 किलोमीटर के लिए 4 करोड़ 36 लाख।
  • कुन्डम सें शहापुरा 40 किलोमीटर के लिए 1 करोड़ 78 लाख।
  • जाहरखेडा- बैरासिया- धौलखेड़ी बायपास को सम्मलित करते हुए 87 किलोमीटर के लिए 3 करोड़ 56 लाख रूपये ।
  • डिंडौरी से मण्डला से बायपास को सम्मलित करते हुए 94 किलोमीटर के लिए 5 करोड़ 56 लाख रूपये की राशि स्वीकृत।