बिना बुलेट प्रूफ शील्ड के अमित शाह का संदेश- ‘दिलों से डर निकाल दें कश्मीर के लोग’

श्रीनगर, डेस्क रिपोर्ट। तीन दिन के दौरे पर जम्मू कश्मीर पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सोमवार को श्रीनगर मे एक जनसभा को संबोधित करते हुए लोगों से कहा कि दिल से हर तरह का डर निकाल दे। उन्होंने जनसभा शुरू होने से पहले मंच पर लगी बुलेट प्रूफ ग्लास शील्ड हटवा दी।

आश्रम 3 : नहीं थम रहा विवाद, अब संत समाज ने दी चेतावनी, सांसद प्रज्ञा ने भी जताई आपत्ति, लिखेगी सी एम को पत्र

दौरे के अंतिम दिन शाह ने सोमवार को श्रीनगर में एक जनसभा को संबोधित किया। दौरान उन्होंने जम्मू कश्मीर को कई परियोजनाओं की सौगात दी। इस दौरान मंच पर उनकी सुरक्षा के लिए लगाई गई बुलेट प्रूफ ग्लास शील्ड उन्होंने हटवा दी। उन्होने लोगों से कहा कि वे अपने दिल से डर निकाल दें। मैं आपसे खुलकर बात करना चाहता हूं। इसके बाद उत्साहित लोगों ने वहां पर शाह और बीजेपी के पक्ष में जमकर नारेबाजी की।

अमित शाह ने फारुख अब्दुल्ला पर तंज कसते हुए कहा कि वे सलाह दे रहे हैं कि पाकिस्तान से कश्मीर को लेकर बात करनी चाहिए। शाह ने कहा कि मैं अपने लोगों यानी कश्मीर के लोगों से बात करूंगा। मैं विकास में युवाओं की भूमिका चाहता हूं। मैं युवाओं से पूछता हूं कि उन लोगों ने कश्मीर की भलाई के लिए क्या किया, जिन्होंने आपके हाथों में पत्थर थमा दिए। शाह ने लोगों को विश्वास दिलाया कि कश्मीर की शांति और विकास की यात्रा अब कोई नहीं रोक सकता। पाकिस्तान की बात करने वाले चाहते हैं कि यहां विकास ना हो और लोगों के हाथ में पत्थर रहे ताकि उनकी राजनीति चलती रहे। अमित शाह ने कहा कि 70 साल के शासनकाल में घाटी में 40000 लोग मारे गए लेकिन विपक्ष ने आतंकवाद की निंदा तक नहीं की। अब कश्मीर तेजी से विकास की ओर बढ़ेगा। विकास में खलल डालने वाली किसी भी ताकत को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।