CM Helpline : मध्यप्रदेश सरकार की बड़ी उपलब्धि, 1 करोड़ से ज्यादा को मिला लाभ

अभी तक 01 करोड़ 27 लाख से अधिक समस्याओं और शिकायतों का निराकरण किया जा चुका है।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में सीएम हेल्पलाइन 181 (CM helpline 181) तेजी से लोगों की समस्याओं का समाधान कर रहा है। जाति प्रमाण पत्र-आय प्रमाण (Caste certificate and income certificate हो या किसानों (Farmers) का कोई काम या फिर स्कूल-कॉलेज (School-Colleage) के छात्रों (Student का कोई समस्या तेजी से निपटारा किया जाता है।यही कारण है कि अभी तक 01 करोड़ 27 लाख से अधिक समस्याओं और शिकायतों का निराकरण किया जा चुका है। इतना ही नहीं विगत 10 माह में लगभग 100 से अधिक नवीन सेवाओं को लोक सेवा गारंटी क़ानून (Public Service Guarantee Act) के दायरे में लाया गया है।

यह भी पढ़े… अपनों से घिरती जा रही शिवराज सरकार, उमा भारती के बाद अब इन्होंने की शराबबंदी की वकालत

इसके अलावा लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान अत्यावश्यक सेवाओं को निर्बाध रूप से जारी रखने एवं आम नागरिकों/श्रमिकों की समस्याओं के निराकरण, भोजन उपलब्धता आदि के लिए 24 घंटे जिला और राज्य स्तर पर विभिन्न हेल्पलाइन संचालित करके लाखों लोगों को बड़े पैमाने पर राहत प्रदान की गई। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के निर्माण के रोडमैप में सुशासन को सबसे प्रमुख 04 स्तंभों में शामिल किया गया है और इसको लेकर महत्वाकांक्षी लक्ष्य बनाए गए हैं।

प्रदेश की देश –विदेश में फैली बहुमूल्य परिसंपत्तियों के संरक्षण और संवर्धन के लिए एक नए लोक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग का गठन किया गया है ।नागरिक सुविधा के लिए सी.एम्. हेल्पलाइन एवं लोक सेवा के लिए व्हाटसप चैट-बोट सुविधा प्रारंभ की गयी, जिसके माध्यम से नागरिक अपने व्हाट्सएप्प नंबर से विभिन्न जानकारी एवं अपने आवेदन/शिकायत की स्थिति देख सकते हैं।

यह भी पढ़े… कुंभ मेला 2021: श्रद्धालुओं को रखना होगा इन बातों का ध्यान वरना नहीं मिलेगी एंट्री

शासकीय योजनाओं एवं सेवाओं के प्रभावी क्रियान्वयन एवं पारदर्शी मॉनिटरिंग व्यवस्था को स्थापित करने के उद्देश्य से सी.एम. डैशबोर्ड विकसित किया गया है। आत्मनिर्भर म.प्र. अंतर्गत चिन्हित आउटपुट एवं आउटकम की मॉनिटरिंग एवं समीक्षा के लिये आत्मनिर्भर पोर्टल का निर्माणलोक सेवा केन्द्रों पर नागरिक सुविधा एवं सेवाओं को बेहतर एवं प्रभावी बनाये जाने हेतु “आधार पंजीयन एवं सुधार” तथा “आयुष्मान भारत लाभार्थी कार्ड सेवा” जैसी महत्वपूर्ण सेवाएं प्रारंभ की गयी ।

शिवराज सिंह चौहान अधिकारियों को दे चुके है चेतावनी

बीते दिनों भोपाल (Bhopal) के एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा था कि सरकार सुशासन की तरफ तेजी से काम कर रही है, ऐसे में आम जनता को राहत मिलनी चाहिए। जल्द ही नल कनेक्शन, बिल्डिंग परमिशन, बिजली कनेक्शन समेत अन्य सुविधाओं के लिए अधिकारियों को समय पर काम करना पडेगा, ताकी लोगों को दफ्तर के चक्कर ना काटना पड़े, अगर ऐसा हुआ तो इसके जिम्मेदार अधिकारी होंगे और उन पर जुर्माना लगाया जाएगा।

 अब खसरा-खतौनी भी सीएम हेल्पलाइन पर

सीएम हेल्पलाइन 181 (CM helpline 181) के जरिए अब आप (Measles and Khatauni) भी पा सकेंगे। इसके लिए किसानों को सीएम हेल्पलाइन नंबर 181 (CM helpline number 181) पर कॉल करना होगा और मांगे गए दस्तावेज के बारे में बताना होगा। इसके बाद खसरा और खतौनी निर्धारित शुल्क जमा कर ई-मेल या व्हाट्सएप जानकारी प्राप्त हो जाएगी। इसके पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने स्थानीय निवासी और जाति प्रमाण पत्र सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) के माध्यम से उपलब्ध कराने की सेवा शुरू की थी।

ऐसे कर सकते है शिकायत

अगर आप कोई भी शिकायत करना चाहते है तो सीएम हेल्पलाइन के व्हाट्सएप नंबर +917552555582 पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। अपनी शिकायत का स्टेटस जान सकते हैं और योजनाओं की जानकारी भी मांग सकते हैं।इसके लिए वॉट्सऐप नंबर +91-7552555582 को सेव करे और अपनी तरफ से सिर्फ HII या HELLO लिखें ।इसके बाद चार विकल्प सामने आते हैं, शिकायत की स्थिति या नवीन शिकायत दर्ज कराना, योजनाओं की जानकारी और अन्य जानकारी शामिल होती है। बस अपना प्रश्न या अपनी समस्या मैसेज के रूप में लिखनी होगी आगे की प्रोसेस अपने आप होती जाती है।