मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की बड़ी घोषणा, देखें वीडियो

26 जनवरी को प्रदेश की विभिन्न जेलों में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 183 बंदियों को रिहा करने का निर्णय लिया गया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 26 जनवरी (26 January) से पहले मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा  (Home Minister Narottam Mishra) ने जेल में बंद बंदियों  (Prisoner) को लेकर एक ने बड़ी घोषणा की है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि गणतंत्र दिवस (The Republic Day) के मौके पर 26 जनवरी को प्रदेश की विभिन्न जेलों में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 183 बंदियों को रिहा करने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़े.. इस IAS को मिली डिंडौरी कलेक्टर की जिम्मेदारी, आदेश जारी

दरअसल, आज राष्ट्रीय बालिका दिवस (National Girl Child Day) के अवसर पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) दतिया में महिला बाल विकास विभाग (Women Child Development Department )और मध्यप्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh Police) द्वारा आयोजित महिला सम्मान समारोह में शामिल होने पहुंचे थे, जहां उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस के मौके पर 26 जनवरी को प्रदेश की विभिन्न जेलों में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 183 बंदियों को रिहा करने का निर्णय लिया गया है। सजा में छूट के इन मामलों में दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट (Misdemeanors and POCSO Act) का कोई भी बंदी शामिल नहीं किया गया है।

यह भी पढ़े… IPS Transfer : मध्यप्रदेश में आईपीएस अधिकारियों के तबादलें, यहां देखें लिस्ट

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में सभी बेटियों के वाहनों (Vehicles) में अब पैनिक बटन लगाया जाएगा। इसे पुलिस (MP Police) के डायल 100 नंबर से जोड़ा जाएगा। जिससे उन्हें संकट के समय 10 से 15 मिनट में पुलिस सहायता उपलब्ध कराई जा सकेगी।इस दौरान नशा छोड़ो, जिंदगी से नाता जोड़ो। सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय (Ministry of Social Justice and Empowerment) द्वारा नशा मुक्ति के लिए चलाए गए नशा मुक्त भारत अभियान के तहत जागरुकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

बता दे कि इसके पहले भी नरोत्तम मिश्रा जेल के बंदियों को लेकर कई बड़े फैसले ले चुके है।कोरोना संकटकाल और लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान कई बार कैदियों की पैरोल  (Parole) भी बढाई जा चुकी है।