स्कूल शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) ने कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्रों (Student) को लेकर बड़ा फैसला लिया है, इसके तहत ‘आओ सीखें’ कार्यक्रम के तहत 15 जून से 15 जुलाई 2021 तक व्हाट्सएप ग्रुप (whatsapp group) के माध्यम से विभिन्न छोटे ऑडियो और वीडियो भेजे जाएँगे।इस संबंध में सभी जिला परियोजना समन्वयकों को निर्देश दिए गए हैं। इसकी जानकारी राज्य शिक्षा केन्द्र के संचालक धनराजू एस ने दी है।

यह भी पढ़े.. ऊर्जा मंत्री तोमर को Twitter पर मिली शिकायत, फीडर प्रभारी निलंबित, 1 को नोटिस

दरअसल, छोटे बच्चों में भावनात्मक विकास और शैक्षणिक समझ विकसित करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा ‘आओ सीखें’ कार्यक्रम में 15 जून से 15 जुलाई 2021 तक व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से विभिन्न छोटे AUDIO और VIDEO भेजे जाएँगे। राज्य शिक्षा केन्द्र के संचालक (Director of State Education Center) धनराजू एस ने बताया कि इसके साथ ही ‘हमारा घर-हमारा विद्यालय’ के अंतर्गत बच्चों में विषय की प्रारंभिक समझ को विकसित करने की दृष्टि से ‘प्रयास’ अभ्यास पुस्तिका का वितरण भी 15 जुलाई से पहले किया जाएगा।

धनराजू ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग ने अभ्यास पुस्तिका के मुद्रण और 15 जुलाई के पहले सामग्री बच्चों को उपलब्ध कराने के संबंध में सभी जिला परियोजना समन्वयकों को निर्देश दिए गए हैं। 16 जुलाई से 15 अगस्त तक विद्यार्थियों के लिए ‘हमारा घर-हमारा विद्यालय-प्रयास’ अभ्यास पुस्तिका सामग्री जिलों को मेल पर प्रेषित की जा रही है। इस 48 पेज की सामग्री को जिले स्तर पर कक्षा 1 व 2 और कक्षा 3 से 5 के लिए बहुरंगी तथा कक्षा 6 से 8 के लिए ब्लैक एंड व्हाइट प्रिंट में मुद्रित कराकर बच्चों को उनके घर पर कार्य करने के लिए 15 जुलाई के पूर्व उपलब्ध करानी होगी।

यह भी पढ़े.. MP Weather : मप्र में झमाझम का दौर जारी, इन जिलों में बारिश का अलर्ट

धनराजू ने बताया कि वर्तमान में विगत सत्र माह मार्च 2020 से शालाएँ पूर्णतः बन्द हैं। सत्र 2021-22 में जब तक परिस्थितियों सामान्य नहीं हो जाती हैं, बच्चों के शैक्षणिक उन्नयन के लिए स्कूल शिक्षा विभाग के निर्देश पर राज्य शिक्षा केन्द्र ने विभिन्न चरणों में कार्य करने की योजना तैयार की है। इसके अलावा शिक्षकों (Teacher) अथवा वॉलेंटियर के सहयोग से बच्चों से घर पर रहते हुए कुछ अन्य गतिविधियाँ भी कराई जा सकती हैं। पालक, अभिभावक और बच्चे इन गतिविधियों के फोटो और वीडियो बनाकर अपने शिक्षकों को प्रेषित कर सकते हैं। विभिन्न कक्षाओं की गतिविधियों को जानने के लिए क्लिक करें।