MP College: सरकारी कॉलेजों को लेकर बड़ी खबर, वित्त विभाग को भेजा जाएगा ये प्रस्ताव

तकनीकी शैक्षणिक संस्थाओं में नवीन सत्र का शुभारंभ द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ वर्ष की इंजीनियरिंग कक्षाओं (MP College Unlock) के लिए 2 अगस्त से होगा।

उच्च शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में 1 जुलाई से स्कूल ( MP School) नहीं खुलेंगे, लेकिन अगस्त से कॉलेज  (MP College Reopen)  खोलने जाएंगे। इसको लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने तैयारियां शुरु कर दी है। इसी बीच उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिए है कि शासकीय महाविद्यालयों के भवन और अन्य लंबित निर्माण कार्यो को समय सीमा में पूर्ण करें। वही कहा कि मध्य प्रदेश सरकार  (MP Government) विश्वविद्यालयों को नये कोर्स शुरू करने, निर्माण कार्यो एवं जीर्णोद्वार के लिए भी मदद करेगी।

यह भी पढ़े.. MP College Unlock: जुलाई में परीक्षा, अगस्त से इंजीनियरिंग की क्लासेस, UP-PG में भी मिलेगा एडमिशन

दरअसल, आज उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने रूसा, विश्व बैंक परियोजना एवं राज्य शासन मद के अंतर्गत लंबित निर्माण कार्यो की समीक्षा करते हुए कहा कि छात्रावास एवं महाविद्यालयों  में पानी, शौचालय जैसी सुविधाएँ बढ़ायी जाये, जिससे कोरोना संकट की स्थिति में भवनों का उपयोग किया जा सके। नवीन महाविद्यालय भवनों में फर्नीचर उपलब्ध कराने के लिए वित्त विभाग को प्रस्ताव भेजने के निर्देश भी दिए।

डॉ. मोहन यादव ने कहा कि सोनकच्छ (Dewas) एवं शहडोल के शासकीय कॉलेज (Government College) में बाउण्ड्रीवाल, शीघ्र बनाई जाये। रीवा की APS विश्वविद्यालय संबंधी DPR भी यथाशीघ्र उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department)   को उपलब्ध करायी जाये। इसी प्रकार शासकीय महाविद्यालय (MP College)पथरिया जिला दमोह के ऑडीटोरियम, शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय मुरार (Gwalior) में स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, मुरैना लॉ कॉलेज, शाजापुर लॉ कॉलेज, सुवासरा जिला मंदसौर के अपूर्ण निर्माण कार्यो को शीघ्र पूर्ण किया जाये।

यह भी पढ़े.. MP Unlock : 6 जिले पूरी तरह से कोरोना मुक्त, CM बोले- चौकन्ने रहे यदि तीसरी लहर..

प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा  अनुपम राजन ने कहा कि जिन महाविद्यालयों के लिए राशि स्वीकृत की गयी है, वह राशि वहीं खर्च की जाये। विश्व बैंक उच्च शिक्षा गुणवत्ता उन्नयन परियोजना (World Bank Higher Education Quality Upgradation Project) में 330 करोड़ रूपये से भवन विहीन महाविद्यालयों (MP College Student) के 50 नवीन भवन निर्माण कार्य और भवन विहीन महाविद्यालयों के अपूर्ण 23 भवन निर्माण कार्य को शीघ्र पूर्ण किया जाये। साथ ही सभी निर्माण कार्यो की नियमित समीक्षा भी की जाये।

बैठक में बताया गया कि रूसा (RUSA), विश्व बैंक परियोजना एवं राज्य शासन मद के अंतर्गत 2015-16 से 2020-21 तक के इन 3 मदों में कुल 201 कार्य लंबित है, जिसमें राज्य मद में 123 रूसा परियोजना में 55 तथा विश्व बैंक परियोजना में 23 कार्य लंबित हैं।

अगस्त से इस प्रक्रिया के तहत खोले जाएंगे कॉलेज

  • तकनीकी शैक्षणिक संस्थाओं में नवीन सत्र का शुभारंभ द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ वर्ष की इंजीनियरिंग कक्षाओं (MP College Unlock) के लिए 2 अगस्त से होगा।
  • प्रथम वर्ष इंजीनियरिंग की कक्षाएँ 15 सितम्बर से आरंभ होंगी।
  • प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय वर्ष डिप्लोमा की कक्षाएँ 17 अगस्त से, ITI की द्वितीय वर्ष की कक्षाएँ 12 जुलाई से और ITI की प्रथम वर्ष की कक्षाएँ 16 अगस्त से आरंभ होंगी।
  • इसके अलावा प्रथम वर्ष इंजीनियरिंग (MP College) में प्रवेश JEE MAINS तथा मध्य प्रदेश हायर सेकेण्डरी बोर्ड (MP Board) की 12वीं परीक्षा परिणाम के आधार पर होगा।
  • 1st डिप्लोमा में प्रवेश के लिए हाई स्कूल परीक्षा परिणाम को आधार माना जाएगा। ITI की प्रवेश प्रक्रिया 31 जुलाई तक पूर्ण कर ली जाएगी।
  • उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department) के अंतर्गत ओपन बुक परीक्षा (Open Book Exam) एवं परीक्षा परिणाम के संबंध में बताया गया कि स्नातक 3rd वर्ष एवं स्नातकोत्तर 4th सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम जुलाई 2021 में, स्नातक 1st और 2nd वर्ष एवं स्नातकोत्तर 2nd सेमेस्टर की परीक्षाएँ (MP College Exam) जुलाई 2021 में और स्नातक 1st-2nd वर्ष एवं स्नातकोत्तर 2nd सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम अगस्त 2021 में जारी किए जाएंगे।
  • स्नातक प्रथम वर्ष एवं स्नातकोत्तर 1 सेमेस्टर के लिए प्रवेश प्रक्रिया 1 अगस्त से आरंभ (MP College Reopen) होगी।
  • स्नातक 2nd-3rd वर्ष एवं स्नातकोत्तर 3rd सेमेस्टर की कक्षाओं के लिए प्रवेश प्रक्रिया एक से 30 अगस्त 2021 तक चलेगी। स्नातक 1st, 2nd, 3rd वर्ष तथा स्नातकोत्तर 1st एवं 3rd सेमेस्टर के लिए नवीन सत्र 1 सितम्बर से आरंभ होगा।
  • जिला आपदा प्रबंधन समिति के परामर्श पर महाविद्यालयवार समय सारणी अनुसार विद्यार्थियों (MP College Student) की 50 प्रतिशत भौतिक उपस्थिति के साथ कक्षाओं का संचालन किया जाएगा।
  • प्रयोगशालाओं का संचालन विद्यार्थियों की 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ किया जाएगा। छात्रावासों और ग्रंथालय विद्यार्थियों की भौतिक रूप से उपस्थिति के साथ चरणबद्ध रूप से आरंभ किए जाएंगे।