मुख्यमंत्री शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ कोरोना के डेल्टा वेरिएंट (Delta Plus Variants) की दस्तक ने टेंशन बढ़ा दी है, वही दूसरी तरफ अनलॉक (MP Unlock) के बाद MP में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 38 नए प्रकरण सामने आए हैं। प्रदेश की साप्ताहिक तथा आज की पॉजिटिविटी रेट 0.1% है। कोरोना (Coronavirus) रिकवरी रेट बढ़कर 98.8% हो गई है। एक्टिव प्रकरणों की संख्या 630 रह गई है। आज कोरोना समीक्षा बैठक में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा मध्य प्रदेश में तीसरी लहर की आहट भी हो तो सुनाई देनी चाहिए।

यह भी पढ़े… इंदौर संभागायुक्त का बड़ा एक्शन-SDM विशा माधवानी निलंबित, ये है पूरा मामला

सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने कहा है कि कोरोना के प्रति हमें इतना चौकन्ना रहना है कि प्रदेश में यदि तीसरी लहर की आहट भी हो तो हमें सुनाई देनी चाहिए। इसके लिए अधिक से अधिक संख्या में कोरोना टेस्ट किए जाना तथा कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग अनिवार्य हैं, जिससे हर मरीज की तुरंत पहचान कर उसे आइसोलेट कर उसका उपचार किया जा सके। इस कार्य में थोड़ी भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए।कोरोना संक्रमण में MP देश के समस्त राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में 32वें स्थान पर है। संक्रमण न्यूनतम स्तर पर है, परंतु हमें बिल्कुल भी असावधानी नहीं करना है।

सीएम चौहान ने निर्देश दिए कि MP के किसी भी जिले में कोरोना टेस्ट कम नहीं होने चाहिए। अलीराजपुर, विदिशा, ग्वालियर, देवास, सीहोर, रायसेन, धार, टीकमगढ़, राजगढ़ एवं बड़वानी जिलों को टेस्ट बढ़ाने के निर्देश दिए गए।प्रदेश के 52 जिलों में से 37 जिलों में कोरोना का कोई नया प्रकरण नहीं आया है। वहीं 6 जिले ऐसे हैं जो पूर्ण रूप से कोरोना मुक्त हैं। यहाँ न तो कोई नया प्रकरण आया है और न ही कोई एक्टिव प्रकरण है। ये जिले अशोकनगर, बुरहानपुर, देवास, खंडवा, मंडला तथा सीधी हैं।

यह भी पढ़े.. मध्य प्रदेश के किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी, जल्द कैबिनेट में भेजा जाएगा ये प्रस्ताव

सीएम चौहान ने निर्देश दिए कि अब MP के 15 जिलों भोपाल, इंदौर, बैतूल, जबलपुर, राजगढ़, रतलाम, रायसेन, निवाड़ी, बड़वानी, दमोह, गुना, ग्वालियर, हरदा, नरसिंहपुर तथा नीमच जिलों में ही कोरोना के नए प्रकरण आए हैं। भोपाल में 7 तथा इंदौर में 6 नए प्रकरण आए हैं। शेष जिलों में 5 से कम कोरोना के नए प्रकरण आए हैं। प्रदेश में अभी भी ब्लेक फंगस के 712 मरीज उपचाररत हैं। इनके उपचार पर विशेष ध्यान दिया जाए। उपचार के लिए ‘एम्फोटेरिसिन-बी’ इंजेक्शन और अन्य दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करें।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वैक्सीनेशन महाअभियान के अंतर्गत मध्य प्रदेश में तेज गति से वैक्सीनेशन चल रहा है। वैक्सीनेशन के मामले में MP का देश में चौथा स्थान है। प्रदेश में 18+ के 33% व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा चुका है, जबकि गुजरात (Gujrat) और राजस्थान (Rajisthan) में 40% तथा कर्नाटक में 38% पात्र जनसंख्या का टीकाकरण (vaccination) किया जा चुका है।मध्यप्रदेश में 18+ से अधिक के व्यक्तियों को 2 करोड़ से अधिक वैक्सीन डोजेज़ लगाए गए हैं। इनमें से एक करोड़ 80 लाख व्यक्तियों को पहला तथा 20 लाख से अधिक व्यक्तियों को दूसरा डोज़ लगाया गया है।

यह भी पढ़े.. Modi Cabinet Meeting: 30 जून को मोदी कैबिनेट की अहम बैठक, मंत्रिमंडल विस्तार पर हो सकता है फैसला