ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री  ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia)के मध्यप्रदेश को नई फ्लाट्स की सौगात देने के बाद केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) का बड़ा बयान सामने आया है। मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि  प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने “उड़े देश का आम नागरिक” के लक्ष्य के साथ देश में उड़ान योजना का संचालन आरंभ किया है। हमें विश्वास है कि  ज्योतिरादित्य सिंधिया को केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय का दायित्व मिलने से मध्य प्रदेश कार्गो हब बनेगा और मध्य प्रदेश के शहरों की एयर कनेक्टिविटी बढ़ेगी।

यह भी पढ़े.. Spice Jet ने शुरू की 5 शहरों के लिए ग्वालियर से फ्लाइट, शिवराज-सिंधिया भी रहे मौजूद

वही सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कहा है कि विमान सेवाओं के विस्तार से प्रदेश में निवेश के लिए बेहतर वातावरण निर्मित होगा और विकास तथा उन्नति के नए अवसर बनेंगे। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री का दायित्व  ज्योतिरादित्य सिंधिया को मिलने से विमानन क्षेत्र में प्रदेश की जनता की अपेक्षाएँ बढ़ी हैं। विमान सेवाओं के विस्तार से प्रदेश में पर्यटन गतिविधियों को प्रोत्साहन मिलेगा। प्रदेश में एविएशन अकादमी और मेंटेनेंस एण्ड रिपेयर ऑपरेशन्स के क्षेत्र में भी विस्तार की पर्याप्त संभावनाएँ हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हवाई सेवाओं के तीव्र विकास के साथ ही प्रशिक्षित पायलट, इंजीनियर और मेंटेनेंस एण्ड रिपेयर ऑपरेशंस (एमआरओ) के लिए प्रशिक्षित युवाओं की आवश्यकता होती है। मध्यप्रदेश में एविएशन एकेडमी और MRO यूनिट (मेंटेनेंस एंड रिपेयर ऑपरेशंस) की स्थापना के लिए आकर्षक नीति लागू है। प्रदेश में पायलटों को प्रशिक्षण के लिए सर्वोत्तम जलवायु और अन्य अनुकूल स्थितियाँ उपलब्ध है। प्रतिवर्ष प्रदेश की एविएशन एकेडेमीज से लगभग 150 प्रशिक्षित पायलेट्स निकलते हैं। उड्डयन विभाग की विकास योजनाओं में राज्य सरकार सदैव सहयोग प्रदान करती रहेगी।

सीएम शिवराज की मांग- पचमढ़ी के लिए हेलीकाप्टर सेवा आरंभ हो

सीएम शिवराज सिंह चौहान  ने केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के सामने मांग रखते हुए कहा कि इंदौर और भोपाल के लिए अंतर्राष्ट्रीय कनेक्टिविटी की तत्काल आवश्यकता है, बाद में इसे ग्वालियर और जबलपुर तक विस्तारित किया जा सकता है। विमान सेवाओं के बढ़ने से प्रदेश में खजुराहो, मांडू, भीम बैठका, उज्जैन, ओंकारेश्वर, मैहर, दतिया, चित्रकूट आदि में पर्यटन गतिविधियों को प्रोत्साहन मिलेगा। पचमढ़ी और नेशनल पार्कों के लिए हेलीकाप्टर सेवा शुरू करने की आवश्यकता है। पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा छोटे शहरों से उड़ानें संचालित करने के लिए शुरू की गई उड़ान योजना से देश का आम नागरिक लाभान्वित होगा।

वर्ष 2024 तक 100 एयरपोर्ट और 1000 एयर रूट का लक्ष्य-ज्योतिरादित्य सिंधिया

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि परिवहन अर्थ-व्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण है।ग्वालियर और जबलपुर के लिए आज शुरू की गई विमान सेवाओं के अतिरिक्त 18 जुलाई को स्पाइसजेट की जबलपुर-दिल्ली-जबलपुर विमान सेवा आरंभ होगी। अक्टूबर माह में खजुराहो-दिल्ली-खजुराहो विमान सेवा आरंभ की जाएगी। रीवा, खजुराहो, दतिया, भोपाल, जबलपुर की एयर कनेक्टिविटी बढ़ाई जाएगी। पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा दिए गए लक्ष्य के अनुरूप देश में वर्ष 2024 तक 100 एयरपोर्ट और एक हजार एयर रूट विकसित किए जाना है। इस दिशा में तेजी से कार्य जारी है। विमान सेवाएँ देश को जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

बता दे कि आज शुक्रवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान और केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा ग्वालियर से पुणे, अहमदाबाद और मुम्बई तथा जबलपुर से सूरत के लिए स्पाइसजेट की विमान सेवा का वर्चुअल शुभारंभ किया गया। ग्वालियर से पुणे के बीच सप्ताह में तीन दिन और ग्वालियर से अहमदाबाद एवं मुम्बई के बीच सप्ताह में 4 दिन विमान सेवा संचालित होगी। जबलपुर और सूरत के बीच सप्ताह में 3 दिन विमान सेवा की सुविधा रहेगी।