शिवराज के पॉजिटिव आने के बाद ‘तन्खा’ का बड़ा बयान- सार्वजनिक सुरक्षा के खिलाफ है BJP का रवैया

भोपाल।

मध्यप्रदेश में तेजी से फैल रहा संक्रमण अब अपने भयानक स्थिति में पहुंच चुका है। पहले जहां इस संक्रमण की चपेट में आप जनता हारे थे अब वही बड़े-बड़े नेता को सहित प्रदेश के मुख्यमंत्री भी अब इसकी चपेट में आ गए हैं। हालांकि प्रदेश में उपचुनाव के मद्देनजर पार्टियों की रैलियां जारी है। जिसको लेकर राज्यसभा सांसद और कांग्रेस नेता विवेक तंखा ने शिवराज सरकार पर सवाल करते हुए उनसे अपील की है। कांग्रेस नेता विवेक तंखा ने आरोप लगाते हुए कहा है कि कोरोना के प्रति आपका रवैया दर्दनाक और सार्वजनिक सुरक्षा के खिलाफ है। भाजपा नेताओं को अब फ़ौरन अपने अभियान और वर्चुअल रैलियों को रोक लेना चाहिए।

दरअसल शनिवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद पार्टी सहित विपक्ष के नेताओं ने उनके स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। इसके बाद अब राज्यसभा सांसद और कांग्रेस नेता तंखा ने ट्वीट करते हुए कहा है कि सीएम शिवराज के पॉजिटिव होने के बाद मप्र के राजनेताओं और विशेष रूप से भाजपा नेताओं को अपने अभियान और वर्चुअल रैलियों को रोक लेना चाहिए। तन्खा ने सकारात्मक अपील करते हुए प्रदेश के नेताओं को ये सुझाव दिए हैं। वहीँ तन्खा ने बीजेपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कोरोना के प्रति आपका रवैया दर्दनाक और सार्वजनिक सुरक्षा के खिलाफ है। कोरोना अपने दूसरे और तीसरे चरण में प्रवेश कर चूका है।प्रदेश के गाँवों पर भी अब इसका असर नजर आ रहा है। वहीँ तन्खा ने बीजेपी नेताओं से कहा है कि वो इसपर चिंतन करें और सोचें। इधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता लगातार शिवराज के पॉजिटिव आने पर उनको स्वस्थ होने की शुभकामनाओं के साथ उनको तंज कसते भी नजर आ रहे हैं।

बता दें कि शिवराज सिंह चौहान में कोरोना के लक्षण देखने के बाद उन्होंने अपने सैंपल जांच के लिए दिए थे। जहां जांच रिपोर्ट में वह संक्रमित पाए गए हैं। हालांकि संक्रमण की चपेट में आने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने अपने संपर्क में आए हुए नेताओं को जांच कराने की सलाह देते हुए उन्हें खुद को क्वॉरेंटाइन रखने की अपील की है। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आज जिले के चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीँ इससे पहले प्रदेश में लगातार बीजेपी नेताओं द्वारा आगामी उपचुनाव को देखते हुए वर्चुअल तथा अन्य रैलियां आयोजित की जा रही थी जहाँ बड़ी संख्या में लोग उपस्थित हो रहे हैं। जिससे संक्रमण का खतरा तेज हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here