कांग्रेस

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में होने वाले नगरीय निकाय चुनावों (Urban Body Election) और पंचायत चुनावों (Panchayat Election 2021) से पहले सियासी पारा हाई हो चला है।कभी भी चुनावी तारीखों और आचार संहिता(Code of conduct) का ऐलान हो सकता है।लेकिन इसके पहले  एमपी कांग्रेस (MP Congress) लगातार ईवीएम (EVM) के स्थान पर बैलेट पेपर (Ballot paper)से वोट (Vote) कराए जाने की मांग पर अड़ गई है, जबकी चुनाव आयोग (Election Commission)साफ कह चुका है कि निकाय चुनावों में वोटिंग EVM से ही होगी।इस संबंध में आज कमलनाथ (Kamal Nath) ने आयुक्त को पत्र भी लिखा है।

यह भी पढ़े.. Bhopal News: कमलनाथ ने इस महिला नेत्री से कहा- आज भी जवान हूं मैं

सोमवार को निकाय चुनावों को लेकर दिए गए राज्य निर्वाचन आयुक्त (State election commissioner) बसंत प्रताप सिंह(Basant Pratap Singh) के बयान के बाद आज मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिखा है और आगामी नगरीय निकाय एवं पंचायत चुनाव में EVM के स्थान पर बैलेट पेपर के उपयोग की माँग की है। उन्होंने EVM से वोट कराए जाने पर निष्पक्षता और पारदर्शिता पर सवाल खड़े किए है।

यह पहला मौका नहीं है। इसके पहले कांग्रेस नेताओं के साथ पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) भी राज्य निर्वाचन आयोग (State Election Commission)पहुंचकर चुनाव को मतपत्रों से करवाने के संबंध में आयुक्त को ज्ञापन सौंप चुके है।

यह भी पढ़े.. MP College: स्वरोजगार और सरकारी नौकरियों को लेकर शिवराज सिंह चौहान का बड़ा ऐलान

बता दे कि मध्य प्रदेश में 16 नगर निगम, 99 नगरपालिकाओं और 293 नगर परिषद समेत पंचायत चुनाव के लिए तारीखों का एलान कभी भी हो सकता है। इस बार पंचायत निर्वाचन तीन और नगरीय निकाय चुनाव दो फेज में करवाये जायेंगे। अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों में वीडियो कैमरे (VIDEO CAMERA) भी लगवाये जायेंगे। निर्वाचन की घोषणा के साथ ही आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील हो जायेगी।आयोग के इस बयान के बाद से ही राजनैतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है और कमलनाथ ने पत्र लिखकर यह मांग कर डाली है।

कमलनाथ निकाय चुनाव 2021: आचार संहिता से पहले कमलनाथ ने उठाई यह मांग, क्या पूरी करेगा आयोग?