कोटा से वापस लौटे बच्चे, भावुक परिजनों ने छलकी आंखों से व्यक्त किया कलेक्टर का आभार

भोपाल/ उमरिया-राजस्थान। दिनेश यादव।

कोटा(kota) में उच्च शैक्षणिक लाभ ले रहे आधे सैकड़े से अधिक छात्रों को विशेष बस से उमरिया(umariya) लाया गया ।इस मौके पर जैसे ही परिजनों ने अपने बेटों बेटियों को देखा अविरल आंसू बहने लगे। सभी परिजनों ने कलेक्टर(collector) स्वरोचिष सोमवंशी के इस प्रयास की सराहना की है। विदित हो कि जिले से तकरीबन 65 छात्र छात्राएं कोटा में रहकर उच्च स्तरीय शैक्षणिक(high level education) सुविधा का लाभ ले रहे थे। परन्तु कोरोना(corona) संक्रमण के बढ़ते प्रभाव में हुवे लॉक डाउन(lockdown) से छात्र वही फंस गए थे।व्यथित परिजनों ने इस बाबत अपनी व्यथा कलेक्टर से की। जिसके बाद सकारात्मक प्रयास से सभी छात्र उमारिया पहुंचे है।

इस मामले में कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने कहा है कि सभी छात्रों की स्क्रीनिंग(screenig) कराई गई है। सभी प्राथमिक दृष्ट्या स्वस्थ है। इन सभी को म.प्र शासन का सार्थक ऐप डाउनलोड(sarthak app download) करने कहा गया है। साथ ही सभी छात्र अपने घरों पर कोरेनटाईन(quarantine) होंगे। इन सभी का प्रॉपर हेल्थ चेकअप(paper health checkup) होता रहेगा। कोरोना महामारी के कोई भी सिमटम पाए जाने पर उनके सैंपल भेजे जाएंगे।

गौरतलब है कि इन सभी छात्रों का कोटा से चलने के बाद गुना(guna),ग्वालियर(gwalior) एवम दमोह(damoh) में भी स्क्रीनिंग की गई है। इसके अलावा देर रात उमारिया पहुंचने पर चिकित्सक डॉ संदीप सिंह की अगुवाई में स्क्रीनिंग की गई है। जिसमे सभी स्वस्थ पाए गए है। एसी ट्राइबल सिन्हा ने बताया कि सभी छात्रों को भोजन आदि की व्यवस्था की गई है। साथ ही उन छात्रों के ठहरने की व्यवस्था की जा रही है। जिनके परिजन किन्ही कारणों से नही पहुंच पाए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here