सीएम के विदेश से लौटते ही डीजीपी की हो सकती है ‘छुट्टी’

Cm-kamalnath-may-remove-DGP-rishi-kumar-shukla

भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार के एक महीने पूरा हेने के साथ ही प्रदेश में कानून व्यवस्था लचर नजर आ रही है। लगातार बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या और हमलों से सरकार की छवि प्रभावित हुई है। सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री कमलनाथ डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला की कार्यशैली से खुश नहीं हैं। कयास लगाए जा रहे हैं विदेश दौरे से लौटने के बाद कमलनाथ डीजीपी को हटा सकते हैं। आईपीएस तबादलों को लेकर भी सीएम और डीजीपी की राय अलग अलग रही है। मुख्यमंत्री 27 जनवरी को प्रदेश लौटेंगे। 

प्रदेश में कानून व्यवस्था पर हाल ही में राष्ट्रीय स्तर पर सवाल खड़े हुए हैं। विपक्षी पार्टी बीजेपी लगातार सरकार पर बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या और हमलों के बाद दबाव बना रही है। हाल ही में बीजेपी ने प्रदेश भर में मुख्यमंत्री का पुतला दहन भी किया था। ऐसे हालातों को देखते हुए सूत्रों के मुताबिक सरकार नए डीजीपी को लाने का विचार कर सकती है। 

कांग्रेस जब सरकार में आई थी तब इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि सबसे पहले डीजीपी को हटाया जा सकता है। लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ऐसा नहीं किया। उन्होंने डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला को कानून व्यवस्था में सुधार करने के लिए समय दिया। लेकिन सूत्रों का कहना है कि हाल ही की घटनाओं को देखते हुए अब उन्हें हटाया जा सकता है। 

दिग्विजय के खास है वीके सिंह

सूत्रों के मुताबिक डीजीपी की रेस में वीके सिंह और संजय चौधरी का नाम शामिल है। पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह वीके सिंह को डीजीपी बनाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। वहीं, पूर्व मुख्य सचिव एंटोनी डिसा, संजय चौधरी के लिए प्रयास कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक दावोस जाने से पहले मुख्यमंत्री ने आईपीएस अफसरों के तबादले की लिस्ट में बदलाव को लेकर कोई खास रुचि नहीं दिखाई। डीजीपी ने जो लिस्ट सौंपी थी उसे भी कोई खास महत्व नहीं दिया गया। अफसरों को नई पोस्टिंग देने में डीजीपी की राय भी नहीं ली गई। जो अफसर डीजीपी के करीबी थे उनका तबादला कर दिया गया। पुलिस मुख्यालय में जिन अफसरों का तबादला किया गया है उन्हें पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के कहने पर बदला गया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here