नाराज विधायक को मनाने पहुंचे दो मंत्री, सीएम ने की बंद कमरे में मुलाकात

cm-kamalnath-meet-with-mla-panchilal-meda-

भोपाल। चुनावी समय में नाराज होकर मुख्यमंत्री को इस्तीफा भेजने वाले धरमपुरी से कांग्रेस विधायक पांचीलाल मेंढा को मनाने के लिए मंत्रियों ने मोर्चा संभाला| मंत्री प्रद्युमन सिंह और गृहमंत्री बाला बच्चन उन्हें मनाने पहुंचे| जिसके बाद दोनों मंत्री विधायक को लेकर मुख्यमंत्री के पास पहुंचे| जहां बंद कमरे में काफी देर तक सीएम के साथ विधायक की चर्चा हुई| जिसके बाद सीएम के साथ मेडा भी एक अन्य कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निकल गए| फिलहाल इस मामले पर कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं है| लेकिन भाजपा ने हमला बोलना शुरू कर दिया है| वहीं कांग्रेस का कहना है कोई नाराजगी नहीं है| 

इससे पहले कांग्रेस विधायक मेड़ा इस्तीफा मुख्यमंत्री कमलनाथ को देने भोपाल पहुंचे। वे अपने क्षेत्र में शराब माफिया पर कार्रवाई नहीं होने से दुखी हैं। सुबह उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि शराब माफियाओं की वजह से पुलिस ने 4 घंटे तक उन्हें थाने में रखा । कांग्रेस की सरकार होने के बाद भी उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। सीएम को लिखे पत्र में विधायक ने कहा है कि मैं और मेरे कार्यकर्ताओं के खिलाफ शासकीय शराब दुकान के ठेकेदार धामनोद एवं सुंद्रेल द्वारा अभद्र व्यवहार एवं जातिसूचक शब्दों का प्रयोग किया गया|  मेरे खिलाफ षड्यंत्र रचा गया जिसमें मैं बहुत आहत हुआ हूं और जिला प्रशासन द्वारा भी मुझे कोई सहयोग प्रदान नहीं किया गया | संबंधित के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई शराब की दुकान धामनोद एवं सुंद्रेल को हटाने की कार्रवाई की जाए | वहीं उन्होंने राधेश्याम राय अतिरिक्त जिला अधिकारी धार को हटाने की मांग की है| उन्होंने आरोप लगाया है कि इनका भी शराब माफियाओं के साथ अवैध परिवहन एवं बिक्री में भी पूर्ण रूप से सहयोग किया जा रहा है| विधायक ने सीएम को लिखे पत्र में कहा मेरे एवं मेरी पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ जो रिपोर्ट लिखी गई है उसे वापस ली जाए और जिन्होंने मेरे खिलाफ थाना धामनोद जिला धार में नारेबाजी की और मुझे गाली गलौज की गई है उनके खिलाफ वीडियो फुटेज से जांच कर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाए| उन्होंने कहा इस घटनाक्रम से मुझे बहुत मानसिक पीड़ा एवं बहुत आहात हुआ है, विधायक पद से मेरा इस्तीफा स्वीकार किया जाए या दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए| 

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर वहां पहुंचे और विधायकको मीडिया के सामने ही अपने साथ में खींचकर ले गए। इस दौरान उन्होंने विधायक को मीडिया से बात भी नहीं करने दी और कहने लगे कि हम साथ में सीएम कमलनाथ जी से मिलने के लिए जाएंगे। इस दौरान विधायक के निवास पर अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। मनाने पहुंचे मंत्रियों ने विधायक को मीडिया से बातचीत करने से रोका और कार में बैठाकर दोनों मंत्री विधायक को सीएम कमलनाथ के पास ले गए| जहाँ सीएम के साथ बंद कमरे में चर्चा हुई है| इसके बाद कमलनाथ और नाराज विधायक पांचिलाल मेड़ा मध्यप्रदेश आदिवासी विकास परिसद के कार्यक्रम में पहुंचे, साथ में कांतिलाल भूरिया भी मौजूद रहे| मंच पर मेडा, बाला बच्चन के बगल में बैठे नजर आये|  कार्यक्रम में मंत्री ओमकार सिंह मरकाम भी उपस्थित रहे|