सीएम शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में सियासी मुलाकात और ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के दौरे के बाद आज मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने दिल्ली पहुंचे और उन्हें मध्य प्रदेश में #COVID19 की वर्तमान स्थिति से अवगत कराया। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पीएम को कोरोना नियंत्रण को लेकर प्रदेश सरकार (MP Government) द्वारा अब तक किए गए प्रयासों की जानकारी दी व तीसरी लहर (corona third wave) से निपटने के लिए तैयारियों पर भी चर्चा की।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र के इन संभागों में झमाझम के आसार, कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

सीएम शिवराज सिंह ने पीएम मोदी को बताया कि #COVID19 की थर्ड वेव को हम लोग कंट्रोल कर पाएँ, इसमें हम पूरी ताकत से जुटे हैं। अधिकतम टेस्ट, पॉज़िटिव आए तो आइसोलेट करना, ट्रेसिंग करना, किल कोरोना अभियान चलाते रहना, कोविड केयर सेंटर्स को चालू रखना, और जनता से कोविड एप्रोरप्रियेट बिहेवियर का पालन करवाना जारी रहेगा।उन्होंने  बताया कि 21 जून को मध्यप्रदेश में मैं स्वयं, सारे मंत्री, MP, MLA, क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटीज़, अलग-अलग क्षेत्रों की प्रमुख हस्तियाँ वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए निकलेंगे। निश्चित समयसीमा में वैक्सीनेशन का कार्य किया जाए, इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी का मार्गदर्शन मिला।

सीएम शिवराज सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री पीएम हर विचार को सुनते हैं और फिर जनता के हित में फैसले लेते हैं। मुझे विश्वास है कि उनके नेतृत्व में केंद्र सरकार इनपर निश्चित रूप से विचार करेगी।मध्यप्रदेश में किसानों ने घनघोर परिश्रम करके मूंग का बंपर उत्पादन किया है। अधिक उत्पादन के कारण कीमतें गिरीं तो हमने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदी का फैसला किया। इससे बाजार में मूंग की कीमतें बढ़ी हैं। किसानों के पसीने की पूरी कीमत मिले, हम इसके लिए हम कटिबद्ध हैं।मध्यप्रदेश में टीकाकरण अभियान लक्ष्य की दिशा में तीव्र गति से बढ़ रहा है। प्रतिदिन 6 लाख से अधिक डोज लगाने की हमारी क्षमता है और दिसंबर तक पूरी आबादी के 70% लोगों के टीकाकारण के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हम संकल्पित हैं।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि #COVID19 के संकट के कारण राज्यों की आर्थिक स्थिति डगमगाई है। पिछले साल जीडीपी के 5.5% तक राज्यों को ऋण लेने की छूट थी, जो इस साल घटाकर 4.5% हुई। अधोसंरचना व विकास के काम न रुकें इसके लिए राज्य पुनः 5.5% ऋण ले पाएँ, इसका आग्रह मैंने प्रधानमंत्री मोदी से किया है।DAP की कीमत रु. 1,200 से बढ़कर रु. 1,900 हो गई थी। केंद्र सरकार ने सब्सिडी बढ़ाई, जिससे किसानों को रु. 1,200 में ही DAP मिली। मध्यप्रदेश में ग्रीष्मकालीन मूंग की खरीदी का अभियान पीएम मोदी की अनुमति से प्रारम्भ हुआ है जिससे किसानों को उचित मूल्य मिल सके।

यह भी पढ़े.. LIC Policy2021: हर दिन 200 का निवेश कर पा सकते है 17 लाख, यहां देखें पूरी डिटेल्स

इससे पहले  सीएम शिवराज सिंह ने संकल्प के अनुसार नई दिल्ली स्थित मध्यांचल भवन में मौलश्री का पौधा रोपा है। वर्षा ऋतु वृक्षारोपण के लिए सबसे उपयुक्त होती है। इस ऋतु में ही वृक्षों की सबसे अधिक वृद्धि और विकास होता है। मैं सभी से अनुरोध करता हूँ कि आप अधिक से अधिक पेड़ लगाएँ और उनकी देखभाल करें।इसके बाद सीएम शिवराज सिंह राज्य के विषयों को लेकर रेलवे एवं खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गाेयल और केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा से भी मुलाकात करेंगे।

दिल्ली दौरे से पहले बांधे थे पीएम की तारीफों के पुल

सीएम शिवराज सिंह मंगलवार को भोपाल (Bhopal) में कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) के बाद देर शाम ट्वीटर पर पीएम मोदी की तारीफों के कई पुल बांधे थे और फिर दिल्ली (Delhi) के लिए रवाना हो गए थे।सीएम ने ट्वीट कर लिखा था कि भारत की गरीब जनता का कल्याण PM नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व में केंद्र सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है, कल्याणकारी नीतियों व योजनाओं से सामाजिक सुरक्षा का एक ऐसा मजबूत कवच बनाया गया है, जो गरीबों के लिए वित्तीय स्वतंत्रता के नए रास्ते खोलता है।

यह भी पढ़े.. MP Board : इस फॉर्मूले पर तैयार हो सकता है मप्र में 12वीं रिजल्ट, विभाग जल्द लेगा फैसला

सीएम शिवराज सिंह ने आगे लिखा था कि भारत (India) की गरीब जनता का कल्याण प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। कल्याणकारी नीतियों व योजनाओं से सामाजिक सुरक्षा का एक ऐसा मज़बूत कवच बनाया गया है जो गरीबों के लिए वित्तीय स्वतंत्रता के नए रास्ते खोलता है। देश के सबसे कमजोर वर्ग के नागरिकों को भी बीमा से जोड़ना प्रधानमंत्री मोदी की सरकार की एक विशिष्ट उपलब्धि रही है। पीएम जीवन ज्योति बीमा योजना का कवरेज वर्ष 2019 में 5.92 करोड़ से लगभग दोगुना होकर 2 साल के भीतर 10.27 करोड़ तक पहुँच गया है। #EmpoweringThePoor