MP उपचुनाव : कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें, इस सीट से प्रत्याशी का विरोध

रामसिया को टिकट देने पर कांग्रेस नेता आनंद सिंह ने पार्टी छोडने का ऐलान किया और कांग्रेस नेताओं पर आरोप लगाए कि उन्होने पार्टी के स्थानीय नेताओं की उपेक्षा की है। उन्होंने एक बार फिर बाहरी प्रत्याशी को बड़ा मलहरा क्षेत्र की जनता पर थोप दिया है, इसका खामियाजा कांग्रेस को चुनाव में भुगतना पड़ेगा।आनंद ने  खुद चुनाव मैदान में उतरने की बात कही है।

congress

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) उपचुनाव से पहले कांग्रेस (Congress) में बगावत के स्वर तेजी से फूट रहे है,  प्रत्याशियों की लिस्ट जारी होते ही एक के बाद एक सीट पर विरोध ज्यादा देखने को मिल रहा है। अब छतरपुर जिले की बड़ा मलहरा सीट पर बाहरी प्रत्याशी को मौका देने के चलते विरोध देखने को मिला है , यहां स्थानीय नेताओं द्वारा घोषित प्रत्याशी रामसिया भारती (Ramsia Bharti)  का तेजी से विरोध किया जा रहा है। नेता पार्टी छोड़ मैदान में उतरने की धमकी देने पर उतारु हो गए है।यह पहला मौका नही है भांडेर से कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया (Phool Singh Baraiya) समेत कई सीटों के प्रत्याशियों का विरोध भी हो रहा है।

रामसिया को टिकट देने पर कांग्रेस नेता आनंद सिंह (Anand Singh) ने पार्टी छोडने का ऐलान किया और कांग्रेस नेताओं पर आरोप लगाए कि उन्होने पार्टी के स्थानीय नेताओं की उपेक्षा की है। उन्होंने एक बार फिर बाहरी प्रत्याशी को बड़ा मलहरा क्षेत्र की जनता पर थोप दिया है, इसका खामियाजा कांग्रेस को चुनाव में भुगतना पड़ेगा।आनंद ने  खुद चुनाव मैदान में उतरने की बात कही तो कांग्रेस नेता मंजूला डेवडिय़ा भी खासी नाराज नजर आई। ब्लाक अध्यक्ष से लेकर तमाम कार्यकर्ता पार्टी के इस फैसले से खफा बताए जा रहे हैं।बताया जा रहा है कि बड़ामलहरा कांग्रेस के नाम से चलने वाले कुछ वाट्सएप ग्रुप में कार्यकर्ताओं ने कमलनाथ के फैसले की जमकर आलोचना की।

यह भी पढ़े…कांग्रेस में बगावत शुरू, किसान कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के निवास पर प्रत्याशी के खिलाफ नारेबाजी

कौन है रामसिया भारती

रामसिया भारती एक साध्वी है और मूलत: टीकमगढ़ जिले के पलेरा विकासखण्ड के ग्राम अतरार की रहने वाली हैं। यह पहला मौका नही है जब वे चुनावी मैदान में उतरी है, इसके पहले भी वे 2018 विधानसभा चुनाव के दौरान दावेदारों की लिस्ट में शामिल थी, हालांकि तब उन्हें टिकिट नहीं मिली थी और अब उपचुनाव में कांग्रेस ने उन्हें मैदान में उतारकर BJP के साथ साथ पूर्व केन्द्रीय मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Uma Bharti) को टक्कर दी है, क्योंकि BJP की तरफ से कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त प्रद्युम्न सिंह लोधी (Praduman Singh Lodhi) को मैदान में उतारा गया है, ऐसे में लोधी वोट बैंक को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस ने ये बड़ा दांव चला है।

यह भी पढ़े…कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया की बढ़ी मुश्किलें, उपचुनाव में अयोग्य घोषित करने की मांग

लोधी वोट बैंक पर कांग्रेस की नजर

साध्वी रामसिया को मैदान में उतार कर कांग्रेस ने लोधी वोट बैंक को साधने की कोशिश की है। वही साध्वी को उतारकर साध्वी यानी BJP नेत्री उमा भारती को टक्कर देने की कोशिश की है।चुंकी रामसिया उमा भारती की शैली की नेता होने के बावजूद उनकी धुर विरोधी हैं और अपने बयानों में उमा भारती पर लोधी वोट बैंक का इस्तेमाल करने के आरोप भी लगाती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here