किसानों को सरकार देगी एक और तोहफा, वापस लिए जाएंगे फर्जी मुकदमें

congress-will-withdraw-case-from-farmers-in-madhya-pradesh

भोपाल। मध्य प्रदेश में किसानों के कर्ज माफी के ऐलान के साथ सत्ता में आई कांग्रेस अब किसानों को एक और तोहफा देने जा रही है। कृषि मंत्री सचिन यदव ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में कहा कि किसानों पर दर्ज फर्जी मुकदमें वापस लिए जाएंगे। जिन किसानों पर फर्जी मुकदमें दर्ज किए गए हैं उनकी समीक्षा की जाएगी। 

विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने अपना पूरा केंद्र किसानों पर रखा। कर्ज माफी से लेकर अन्य वादे किसानों के लिए किए। अब सरकार में आने के बाद कृषि मंत्री सचिन यादव ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश भर में किसानों पर दर्ज मुकदमों की समीक्षा की जाएगी। जिसके बाद किसानों पर लगे फर्जी मामलों को वापस लिया जाएगा। इससे पहले 17 दिसंबर को मुख्यमंत्री की शपथ लेने के बाद सीएम कमलनाथ ने किसानों की कर्ज माफी की फाइल पर सबसे पहले साइन किए थे। 

दरअसल, मंदसौर कांड में छह किसानों की पुलिस फायरिंग में मौत हो गई थी। इसके बाद प्रदेश में उपजे किसान आंदोलन ने बीजेपी सरकार की चूल्हें हिला दीं थी। आंदोलन में प्रदेशभर के किसान शामिल हुए थे। इनपर पुलिस ने मुकदमें भी दायर किए थे। जिसका काफी विरोध किया गया था। लेकिन उस समय कांग्रेस विपक्ष में थी और बीजेपी ने आरोप लगाए थे इस आंदोलन में शामिल हुए लोग किसान नहीं बल्की राजनीति से प्रेरित शरारती तत्व थे जिन्होंने प्रदेश का माहौल खराब करने का काम किया था। 

गौरतलब है कि हाल ही में बहुजन समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस सरकार से मांग कि थी कि एससी एसटी एक्ट आंदोलन के दौरान पिछले साल दलितों पर दर्ज मुकदमें वापस लिए जाएं। बसपा प्रमुख मायावती ने चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर सरकार ने फैसला जल्द नहीं लिया तो वह समर्थन वापस लेने पर विचार करेंगी।