धरना दे रहे 1500 अतिथि विद्वानों को जिंदा जलाने की कोशिश, नकाबपोशों ने टेंट में लगाई आग

भोपाल।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में नियमितीकरण समेत अपनी कई मांगों को लेकर अतिथि विद्वानों करीब 34  दिनों से धरना दे रहे है। लेकिन बीती रात किसी ने उनके टेंट में आग लगा दी । आग लगते ही चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई। गनिमत रही कि हादसे में किसी भी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है, हालांकि पंडाल का एक हिस्सा जल गया है वही कई पंडालों में पेट्रोल की गंध महसूस की गई। बताया जा रहा है कि टेंट को पेट्रोल से जलाने की साजिश थी, लेकिन अतिथि विद्वानों की सतर्कता से बड़ा हादसा टल गया।

घटना रात करीब 2:00 बजे की बताई जा रही है।प्रदर्शनकारियों ने बताया कि करीब 4-5 नकाबपोश पेट्रोल लेकर आए और टेंट पर छिड़क कर आग लगा दी।इससे पंडाल का एक हिस्सा जल गया। हालांकि अतिथि विद्वान रात में पहरा देते हैं इसलिए आग पर तत्काल काबू पा लिया गया।  बताया जा रहा है जिस समय यह कोशिश की गई उस वक्त  पंडाल में 1500 अतिथि विद्वान सो रहे थे।आग लगते ही पूरे पंडालों में अफरा-तफरी मच गई। इस दौरान अतिथि विद्वानों ने उन्हें पकड़ने की कोशिश की लेकिन वह भाग निकलें।

इस कैंप में करीब 500 महिलाएं हैं। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि जिस समय घटना हुई टेंट में करीब डेढ़ हजार अतिथि विद्वान थे।  घटना के बाद से ही अतिथि विद्वानों में दहशत का माहौल है। गनिमत रही कि कोई बड़ा हादसा होने से टल गया , वरना कईयों की जान जा सकती थी। फिलहाल  पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच कर रही है।