Delhi metro: यात्रीगण कृपया ध्यान दें, अब एक मेट्रो कोच में सिर्फ 25 यात्री ही हो पाएंगे सवार

कोरोनावायरस के नए वेरिएंट के अलर्ट के बाद दिल्ली मेट्रो के नए नियम लागू। एक कोच में 25 से ज्यादा यात्री नहीं कर सकेंगे यात्रा।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट । दिल्ली मेट्रो (Delhi metro)में सफर करने वालों के लिए यह खबर बेहद अहम है, क्योंकि दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने यात्रियों के लिए नए नियम बनाए हैं। तो अब आप जब भी मेट्रो में सफर करने की सोची पहले यह खबर जरूर पढ़ें। नियमों में यह परिवर्तन स्टेशनों पर कोविड-19 प्रोटोकॉल को फॉलो करने के लिए किए जा रहे हैं।नए नियमों के अनुसार- मेट्रो कोच में केवल 25 यात्री ही सफर कर सकेंगे। साथी मेट्रो के गेट की संख्या भी कम कर दी गई है।

यह भी देखें- Omicron: इंदौर में omicron की दस्तक, एक हजार विदेशीयों में 26 पॉजिटिव, कमलनाथ का सवालिया ट्वीट

डीएमआरसी ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए लिखा, “एक 8 कोच वाली मेट्रो ट्रेन में आम तौर पर लगभग 2400 यात्री सवार हो सकते हैं. इसमें प्रति कोच लगभग 50 यात्री बैठे हुए और 250 यात्री खड़े होने वाले शामिल होते हैं। प्रत्येक कोच में अब केवल 25 यात्रियों को को ही यात्रा करने की अनुमति होगी।ओमिक्रॉन वेरिएंट के बढ़ते मामलों के बीच इन नियम को लागु किया गया है।

यह भी देखें- Omicron Alert : दिल्ली सरकार ने की तैयारी, रोज होंगे 3 लाख टेस्ट, बढ़ेगा होम आइसोलेशन

डीएमआरसी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “इसलिए, 8 कोच वाली ट्रेन में अब लगभग 200 यात्री ही बैठ सकते हैं। यह ट्रेन की सामान्य वहन क्षमता के 10 प्रतिशत से भी कम है। इसलिए, बहुत जरूरी होने पर ही यात्राकरें। ”

यह भी देखें- Omicron Alert : यहां लग सकता है Lockdown, बंद हो सकते हैं स्कूल

डीएमआरसी ने अपने एक बयान में कहा, “किसी भी यात्री को मेट्रो में खड़े होने की अनुमति नहीं होगी। 712 मेट्रो गेटों में से केवल 444 को ही खुला रखा जाएगा।” जीआरएपी (GRAP) के तहत दिल्ली में येलो अलर्ट मंगलवार को लागू हुआ है। इसकी घोषणा खुद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मंगलवार को इसकी सूचना देते हुए कहा, “चूंकि पिछले कुछ दिनों से कोविड -19 पॉजिटिविटी रेट 0.5 प्रतिशत से ऊपर रही है, इसलिए हम ग्रेड- I (येलो अलर्ट) ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान लागू कर रहे हैं।”मुख्यमंत्री ने कहा, “पिछले कुछ दिनों से, राजधानी शहर और देश में मामलों की संख्या बढ़ रही है। किसी को चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, लेकिन सावधानी बरतनी चाहिए। हमारी सरकार अच्छी तरह से तैयार है।