अब नगर निगम कमिश्नर ने की मंत्री की चरणवंदना, वीडियो वायरल

भोपाल| मध्य प्रदेश की सियासत में चरणवंदना का कल्चर हावी होता जा रहा है| कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के चरणों में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का दंडवत प्रणाम का मामला अभी थमा भी नहीं था कि अब एक महिला अधिकारी मंत्री के चरण छूते नजर आई| अब देवास नगर निगम की कमिश्नर संजना जैन मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के पैर छूकर विवादों में आ गई हैं| 

दरअसल, शुक्रवार को गुरुनानक जयंती पर गुरुद्वारे में आयोजित एक धार्मिक कार्यक्रम में देवास की नगर निगम कमिश्नर संजना जैन मप्र सरकार में मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के पैर छूते नजर आई| इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है| नियमों के तहत प्रोटोकॉल का उल्लंघन माना जाता है। इस पर भाजपा सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी का बयान सामने आया है| उन्होंने कहा कानून नियम प्रोटोकॉल तोड़ अधिकारी कांग्रेस नेताओं के शरणागत हो गए हैं, निगमायुक्त ही नहीं कलेक्टर एसपी भी मंत्री के पैरों में हैं। अधिकारियों ने पद की गरिमा गिराई है हम इसकी शिकायत करेंगे| वहीं उन्होंने कहा सीएम को ऐसे अफसरो पर कार्रवाई करनी चाहिए, देवास में सज्जन वर्मा प्रा.लि की तरह सरकार चला रहे हैं| 

इससे पहले मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर द्वारा सिंधिया की चरणवंदना करते हुए वीडियो वायरल हुआ था, मंत्री पैर छूते नहीं बल्कि दंडवत प्रणाम करते पैरों में गिर गए| इसका वीडियो वायरल होने पर मंत्री ने कहा था कि वे सिंधिया परिवार के सेवक हैं| इस पर सिंधिया ने भी नाराजगी जताई थी| अब एक महिला अधिकारी द्वारा सार्वजानिक रूप से पैर छूने पर बवाल मच गया है| इस पर पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने निशाना साधा है| उन्होंने कहा शासन और प्रशासन दोनों ही इस समय शरणागत हैं, चरणम शरणम गच्छामि, ऐसी स्तिथि देखते हैं तो लगता है लोकतंत्र भी शर्मा रहा होगा, अपने पद पर बने रहने की यह आहर्ता तय की है सरकार ने कि कोई शरण में नहीं आएंगे तो पद से हटा दिए जाएंगे| यह हालत चिंतनीय भी है और निंदनीय भी है|