28 साल बाद बब्बर शेर का कुनबा बढ़ा, मादा बब्बर शेर ने दिया 3 शेर शावकों को जन्म

ग्वालियर, अतुल सक्सेना

गांधी प्राणी उद्यान (चिड़ियाघर) ग्वालियर में बब्बर शेर (लाॅयन) मादा “परी” ने 3 शावकों को जन्म दिया है। मादा “परी” एवं नर “जय” के द्वारा प्रथम बार शावकों को जन्म दिया गया है इसलिए चिड़ियाघर प्रबंधन द्वारा विशेष सावधानी बरती जा रही है। यहां यह उल्लेखनीय है कि गांधी प्राणी उद्यान में वर्ष 2012 में नंदनवन जू रायपुर से लाॅयन नर “जय” को एवं मादा “परी” को कानन पेण्डारी जू बिलासपुर से ग्वालियर चिड़ियाघर लाया गया था।

नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन ने जानकारी देते हुए बताया कि गांधी प्राणी उद्यान में बब्बर शेर (लाॅयन) के परिवार में अंतिम बार वृद्धि वर्ष 1992 में हुई थी। उसके बाद लगभग 28 साल बाद पुनः चिड़ियाघर में बब्बर शेर का कुनबा बढ़ा है। बब्बर शेर के कुनबे में वृद्धि प्रभारी डाॅ. उपेन्द्र सिंह यादव, क्यूरेटर गौरव परिहार, जू कीपर लियाकत खां एवं एनीमल कीपर अशोक के अथक प्रयासों के बाद यह उपलब्धि हासिल हुई है।

वर्तमान में मादा “परी” एवं उसके तीनों शावक स्वस्थ्य प्रतीत हो रहे हैं । मादा को खाने के रूप में हल्का खाना जैसे चिकन सूप, दूध/उबले हुऐ अण्डे इत्यादि दिये जा रहे हैं। वर्तमान में कोविड-19 कोरोना वायरस को देखते हुये चिड़ियाघर प्रभारी को निर्देशित किया गया है कि शिशुओं के स्वास्थ्य पर विशेष निगरानी रखें एवं तीस से चालीस दिन तक बच्चों को आईसोलेशन में रखा जाए क्योंकि नवजात शिशुओं में संक्रमण की संम्भावना प्रबल रहती है। इसको देखते हुए स्वास्थ्य संबधी समस्त प्रोटोकोलों का पालन केन्द्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के निर्धारित गाइड लाइन के अनुसार किया जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here