भाजपा के दिग्गज सांसद पर नेता प्रतिपक्ष के बेटे ने साधा निशाना, मचा बवाल

gopal-bhargav's-son-abhishek-post-against-prahlad-patel-

भोपाल| भाजपा के कद्दावर नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के पुत्र अभिषेक ने सांसद प्रहलाद पटेल पर निशाना साधा है| पटेल के एक पोस्ट को लेकर भार्गव ने सोशल मीडिया पर कड़ी आलोचना करते हुए आपत्ति जताई है| अभिषेक का सोशल मीडिया पर एक दिग्गज नेता को निशाने पर लेना चर्चा का विषय बना हुआ है| 

दरअसल,  पहलाद पटेल ने भाजपा के सांसद प्रतिनिधि की मां के निधन पर श्रद्धांजलि व्यक्त करते हुए एक फेसबुक पोस्ट किया था, जिस पर अभिषेक भार्गव ने आपत्ति जताते हुए ��हा है कि जिस व्यक्ति ने चुनाव में भाजपा के का खुलकर विरोध किया और जो व्यक्ति कांग्रेस का पोलिंग एजेंट ,काउंटिंग एजेंट रहा हो उस व्यक्ति को आप आज भी अपना सांसद प्रतिनिधि बता रहे है| अभिषेक ने इसको लेकर सांसद को निशाने पर लिया है| बता दें कि लम्बे समय से भार्गव अब अपने बेटे अभिषेक को चुनावी राजनीति में उतारना चाहते हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में भी उन्होंने अपने बेटे को चुनाव लड़ाने के लिए पार्टी में लॉबिंग भी की थी, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली थी। वहीं हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में भी अभिषेक के चुनाव लड़ने की चर्चा रही लेकिन टिकट नहीं मिला| अब एक बार फिर अभिषेक चर्चा में है| लोकसभा चुनाव से पहले अपनी ही पार्टी के दिग्गज नेता को सोशल मीडिया पर निशाने पर लेना कई सवाल उठा रहा है जिसकी चर्चा शुरू हो गई है| अभिषेक अपनी पिता का पूरा राजनीतिक और चुनावी काम देखते हैं।  भार्गव एक भी दिन अपने क्षेत्र में प्रचार करने नहीं गए। पूरे समय अभिषेक और उनकी टीम सक्रिय रहे थे।

यह लिखा पोस्ट में 

आदरणीय दमोह सांसद श्रीमान प्रहलाद पटेल जी आपका यह व्यवहार रहली विधानसभा के भारतीय जनता पार्टी के स्वाभिमानी कार्यकर्ताओं के लिए अत्यंत पीड़ादायक है।जिस व्यक्ति ने विधानसभा चुनावों में भाजपा का तन ,मन, धन से विरोध किया हो ।जो व्यक्ति कांग्रेस का पोलिंग एजेंट ,काउंटिंग एजेंट रहा हो।उस  व्यक्ति को आप आज भी अपना सांसद प्रतिनिधि बता रहे है ,लिख रहे है।श्री अमित चौधरी जी की माताजी के निधन पर में भी शोक व्यक्त करता हूँ और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ।मेरा विषय श्री अमित चौधरी जी नही है न ही ऐसे समय मे हम उनके ऊपर राजनीति करना चाहते है ।हमारी आपत्ति श्रधांजलि या शोक व्यक्त करने पर नही है यह सामाजिक शिष्टाचार है जिसका पालन हर राजनेता को करना चाहिए परंतु आदरणीय सांसद जी का उनको आज भी अपना प्रतिनिधि बताना यह व्यवहार हमारे लिए घोर आपत्ति जनक है,क्षोभकारी और पीड़ादायक है।क्षेत्र के कई कार्यकर्ताओं ने  फ़ोन पर आपके इस व्यवहार पर आपत्ति जताई इसीलिए यह पोस्ट लिखने पर मजबूर हो रहा हूँ अन्यथा हम तो मोदी जी को पुनः देश का प्रतिनिधित्व करते हुए देखना चाहते है परंतु आपका यह व्यवहार इस दिशा में रोड़े अटकाने वाला है।

भाजपा के दिग्गज सांसद पर नेता प्रतिपक्ष के बेटे ने साधा निशाना, मचा बवाल