MP College : कॉलेज छात्रों को लेकर उच्च शिक्षा मंत्री का बड़ा फैसला, राशि बढ़ाई

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार की संख्या और राशि में बढ़ोत्तरी होगी ।

उच्च शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग (MP Higher Education Department) ने छात्रोंं के हित में एक बड़ा फैसला लिया है। मध्यप्रदेश राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार के लिए गठित चयन समिति ने पुरस्कारों की संख्या 18 से बढ़ाकर 20 करने और राशि 11 हजार से बढ़ाकर 21 हजार रुपये करने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़े.. MP News : कर्मचारियों-अधिकारियों के लिए बड़े काम की खबर, निर्देश जारी

दरअसल, सोमवार देर शाम उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव (Dr. Mohan Yadav) की अध्यक्षता में मंत्रालय में मध्यप्रदेश राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार (MP State Level National Service Scheme Award) के लिये गठित चयन समिति की बैठक में यह फैसला लिया गया। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार की संख्या और राशि में बढ़ोत्तरी होगी । राष्ट्रीय सेवा योजना का उद्देश्य सामाजिक सेवा के जरिये छात्रों (MP College Student) का व्यक्तित्व विकास करना है।

उच्चशिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने बताया कि पुरस्कार हमेशा प्रोत्साहित करते हैं। अगले वित्तीय वर्ष से राज्य स्तरीय पुरस्कारों की संख्या को 18 से बढ़ाकर 20 किया जाएगा। उन्होंने स्वयंसेवक स्तर पर विद्यार्थियों को दी जाने वाली 11 हजार रुपये की पुरस्कार राशि को बढ़ाकर 21 हजार रुपये करने की अनुशंसा की है।कठिन समय में भी एनएसएस के छात्रों ने लगातार समाज-सेवा में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

यह भी पढ़े.. डीए-प्रमोशन को लेकर अब लड़ाई आर पार, 22 अक्टूबर को कर्मचारियों का बड़ा प्रदर्शन, चेतावनी

मध्यप्रदेश राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार (National Service Scheme Award) के तहत विश्वविद्यालय स्तरीय कार्यक्रम समन्वयक के लिये प्रतिवर्ष एक, जिला संगठक स्तर पर दो, संख्या स्तर पर कार्यक्रम अधिकारी को 12 प्रशस्ति-पत्र प्रदान किये जाने का प्रावधान है।इसके अतिरिक्त स्वयं-सेवक स्तर पर 18 पुरस्कार प्रदाय किये जाते हैं।इसमें विद्यालय स्तर के लिए 5 पुरस्कारों का आरक्षण है। महाविद्यालय के 13 पुरस्कार है विद्यालय स्तर पर कम प्रस्ताव प्राप्त होने पर कॉलेज के स्वयंसेवकों को पुरस्कार दिए जाएंगे। साथ ही राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी स्तर पर कुल 12 पुरस्कार प्रदान किये जाते हैं।