वैक्सीन डिलीवरी हेतु ड्रोन के इस्तेमाल पर स्टडी करेगा आईसीएमआर

मंत्रालय के प्रेस रिलीज (press release) के अनुसार आईसीएमआर इस स्टडी को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) (indian institute of technology) कानपुर (kanpur) के साथ मिलकर करेगा।

वैक्सीन, ड्रोन

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना के खिलाफ इस वक़्त वैक्सीन (vaccine) ही एक मात्र शस्त्र नज़र आ रहा है। देश भर में टीकाकरण अभियान (vaccination drive) जारी है। 1 मई से 18 से अधिक आयु वाले लोगों के टीकाकरण के लिए भी सरकार ने मंजूरी दे दी है। ऐसे में खबर है कि नागरिक उड्डयन मंत्रालय (civil aviation ministry) ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) को कोरोना की वैक्सीन की डिलीवरी (delivery) हेतु ड्रोन (drones) के इस्तेमाल पर स्टडी करने की मंजूरी दे दी है। मंत्रालय के प्रेस रिलीज (press release) के अनुसार आईसीएमआर इस स्टडी को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) (indian institute of technology) कानपुर (kanpur) के साथ मिलकर करेगा।

यह भी पढें… चोर ने लौटाई वैक्सीन, बोला- सॉरी, पता नहीं था कोरोना की दवाई है, लेटर वायरल

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बताया कि आईसीएमआर को ‘अनमैंड एयरक्राफ्ट सिस्टम’ 2021 के नियमों से शर्तों के साथ छूट दे दी गयी है ताकी वो आसानी से वैक्सीन की डिलीवरी हेतु ड्रोन के उपयोग पर साध्य स्टडी कर सके। इसके साथ ही ये भी बताया गया कि इस छूट की अवधि 1 साल की या फिर अगले आदेश तक की होगी।

यह भी पढ़ें… होशंगाबाद- कलेक्टर ने रेमडेसिवीर की कालाबाजारी रोकने बनाया मजबूत सिस्टम

आपको बता दें कि कुछ इसी तरह की ड्रोन्स पर छूट कोटा और कटनी में स्थापित पश्चिमी मध्य रेलवे को ट्रेन ऐक्सिडेंट साइट को मैप करने और रेलवे की संपत्ति की सुरक्षा हेतु दी गयी है।