शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) में सभी अवैध कॉलोनियों (Illegal Colonies) को वैध किया जाएगा। भविष्य में प्रदेश में कोई भी अवैध कॉलोनी विकसित नहीं होने दी जायेगी।अगर कोई कॉलोनी वैध होती है तो इसके लिए शासकीय अधिकारी (Government Officers)  जिम्मेदार होंगे। यह बात आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने एक निजी कार्यक्रम में कहीं।

यह भी पढ़े.. सीएम शिवराज सिंह चौहान का मास्टर स्ट्रोक-पंचायत चुनाव से पहले की ये बड़ी घोषणा

आज कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नगरीय विकास का रोडमैप का जिक्र करते हुए कहा कि हमारी सरकार प्रदेश की अवैध कॉलोनियों को वैध करेगी, क्योंकि इनमें गरीबों और आम जनता का पैसा लगा है।अगर भविष्य में कोई अवैध कॉलोनी बनती है तो इसके लिए सीधे कलेक्टर (Collector) और नगर निगम के आयुक्त जिम्मेदार होंगे। इन दोनों अधिकारियों को जिम्मेदार मानकर उन पर कार्रवाई की जाएगी।

दरअसल, बीते दिनों मध्य प्रदेश विधानसभा (MP Assembly) के बजट सत्र (Budget 2021) के दौरान नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह (Bhupendra Singh) ने एक प्रश्न के जवाब में कहा था कि प्रदेश में अवैध कॉलोनियों को वैध करने के लिए सरकार बजट सत्र में ही विधेयक लेकर आएगी। इसके लिए नगरीय विकास एवं आवास विभाग (Urban Development and Housing Department) ने अधिनियम का मसौदा तैयार कर लिया है। इसमें कंपाउंडिंग को दस से बढ़ाकर बीस फीसद किया जाएगा। इससे बिना अनुमति किए गए निर्माण को निश्चित शुल्क देकर वैध करवाया जा सकेगा।MP में जल्द ही कानून में संशोधन कर सभी अवैध कॉलोनियों को वैध किया जाएगा।इसके बाद आज मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के भाषण के मुख्य अंश

  • अगले चार वर्षों में मध्यप्रदेश में कोई भी गरीब ऐसा नहीं होगा, जिसका अपना घर या फ्लेट न हो।
  • नगरों में आवागमन की सुविधाजनक व्यवस्था के लिए सिटी बस सेवा, ई-रिक्शा और पार्किंग के बेहतर इंतजाम किए जाएंगे।
  • पार्क, पुस्तकालय, दीनदयाल रसोई केन्द्रों की संख्या बढ़ाने, वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांगों को विशेष सुविधाएँ, निराश्रितों के लिए शेल्टर होम्स, गुणवत्ता शिक्षा के लिए सीएम राइज स्कूल (CM RAISE SCHOOL) और चिकित्सा सुविधा के लिए संजीवनी मुहल्ला क्लीनिक की व्यवस्था की जा रही है।
  • अगले पाँच वर्षों में नगरों के विकास के लिए 70 हजार करोड़ रूपये खर्च किए जाएंगे। विकास और जन-कल्याण का कार्य लगातार जारी रहेगा।
  • सड़क, बिजली, पानी, अडंरग्राउण्ड सीवेज और हर घर में नल से जल की व्यवस्था होगी।
  • आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर अमृत महोत्सव के अंतर्गत गतिविधियाँ आरंभ हो चुकी हैं। उन्होंने आजादी के योद्धाओं को नमन करते हुए कहा कि उनकी स्मृति में प्रदेश के सभी जिलों में कार्यक्रम होंगे।
  • शहीदों की जन्म-स्थली और कर्म-स्थली पर विशेष कार्यक्रम किए जाएंगे।