ग्वालियर में लक्ष्य से अधिक वैक्सीनेशन पर नाचे मंत्री, बांटी मिठाई, कलेक्टर एसपी का किया सम्मान

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सोमवार 21 जून को मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन का महा अभियान शुरु हुआ। जिलेवार सभी ने अपना अपना लक्ष्य निर्धारित किया और जब ग्वालियर जिले ने निर्धारित लक्ष्य पार कर लिया तो प्रशासनिक अफसरों से लेकर मेडिकल स्टाफ और जनता में खुशी का ठिकाना नहीं रहा। ऊर्जा मंत्री और जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर तो इतने खुश हो गए कि नाचने लगे। उन्होंने मिठाई खिलाई और कलेक्टर एसपी सहित महा अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित किया।

ग्वालियर में लक्ष्य से अधिक वैक्सीनेशन पर नाचे मंत्री, बांटी मिठाई, कलेक्टर एसपी का किया सम्मान

लक्ष्य था 50,000 लेकिन 87 हजार लोगों ने कराया वैक्सीनेशन

वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए और 21 जून के लिए ग्वालियर जिला प्रशासन ने 50,000 लोगों के वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा था। जैसे ही शुरुआत हुई लोग उत्साहित होकर वैक्सीनेशन सेंटर पहुँचने लगे। लंबी लंबी लाइन मतदान वाले दिन की याद दिला रहे थे।जिसका परिणाम ये हुआ कि दोपहर 1 बजे ही 50,000 का लक्ष्य पार हो गया और शाम होते होते सूरज ढलने के समय 7 बजे तक 87 हजार लोगों ने वैक्सीनेशन करा लिया था।

ऊर्जा मंत्री ने लगाए ठुमके, बांटी मिठाई

वैक्सीनेशन का लक्ष्य पार करने की सूचना जैसे ही वायरल हुई प्रशासनिक अमले में खुशी की लहर दौड़ गई। जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर दौड़कर सिविल अस्पताल ग्वालियर पहुंचे यहाँ उन्होंने ढोल की थाप पर ठुमके लगाए और मेडिकल स्टाफ सहित अन्य लोगों को मिठाई खिलाई।

शॉल और श्रीफल से किया कलेक्टर, एसपी का सम्मान

लक्ष्य से अधिक वैक्सीनेशन से उत्साहित प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एवं जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री ने देर शाम कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह और पुलिस अधीक्षक अमित सांघी को शॉल श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया। साथ ही स्मार्ट सिटी के कंट्रोल कमांड सेंटर पहुँचकर एसडीएम एस बी प्रसाद व सभी डाटा एंट्री ऑपरेटर को भी सम्मानित किया और उनकी हौसला अफजाई की। उन्होंने डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए आज रात्रि के भोजन का इंतजाम करने के निर्देश भी दिए।

उल्लेखनीय है ग्वालियर जिले में चुनाव की तर्ज पर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह द्वारा बनाई गई कारगर रणनीति और सभी के साझा प्रयासों से कोरोना वैक्सीनेशन महाअभियान में बड़ी सफलता मिली है। इस अभियान में जिला और ब्लॉक स्तर पर मेडिकल स्टाफ सहित सभी कर्मचारियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।