Pravasi Bharatiya Sammelan : नरोत्तम मिश्रा ने कहा ‘इंदौर पलक पांवड़े बिछाकर स्वागत के लिए तैयार’

गृहमंत्री ने प्रवासी भारतीय सम्मेलन की रूपरेखा बताई, कहा 'मध्य प्रदेश के लिए मील का पत्थर साबित होगा सम्मेलन'

Pravasi Bharatiya Sammelan : गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि इंदौर में होने वाला प्रवासी भारतीय सम्मेलन मध्यप्रदेश के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होने तीन दिवसीय कार्यक्रम की रूपरेखा के बारे में बताया और कहा कि इंदौरवासी प्रवासी भारतीयों के स्वागत के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री जी ने इंडोनेशिया में प्रवासी भारतीयों के सम्मेलन का आह्वान किया तो विश्व खड़ा हो गया। 3800 से ज्यादा रजिस्ट्रेशन अभी तक हो चुके हैं। दो देशों के राष्ट्रपति सुरीनामा और गुयाना के इंदौर में पधार रहे हैं। स्वयं प्रधानमंत्री जी 9 तारीख को पधार रहे हैं। 10 तारीख को भारत की महामहिल राष्ट्रपति आ रही हैं। पूरा इंदौर पलक पांवड़े बिछाकर स्वागत के लिए आतुर हैं। पहली बार हो रहा है कि घरों में लोग रूक रहे हैं। घरवालों ने भी रंगोली बनाकर जैसा इंदौर की परंपरा है हर क्षेत्र में नंबर वन आने का, और इस बार भी वही प्रयास है। प्रभारी मंत्री होने के नाते उनका भी अभिनंदन और आने वालों का भी स्वागत वंदन। 8 तारीख को ये कार्यक्रम शुरू हो जाएगा और उस दिन युवा प्रवासी रहेंगे और उनके साथ रहेंगे हमारे मंत्री अनुराग ठाकुर जी उनके साथ रहेंगे। उसके बाद दोपहर से हमारे मध्य प्रदेश के मंत्रियों के विभागों का प्रेजेंटेशन भी होगा। अद्भुत रहने वाला है और हमारे मध्यप्रदेश के लिए ये सम्मेलन मील का पत्थर साबित होगा। प्रदेश के साथ साथ देश के लिए भी प्रवासी भारतीय सम्मेलन एक नया मार्ग खोलेगा।’

बता दें कि 8,9 और 10 जनवरी को होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इसके बाद 11 व 12 जनवरी को ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट होने जा रहा है। प्रवासी भारतीय सम्मेलन और ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में गुयाना और सूरीनाम के राष्ट्रपति सम्मिलित होंगे। साथ ही दुनियाभर के 80 से ज्यादा देशों के प्रवासी भारतीय मध्यप्रदेश आएंगे। सरकार ने उनके स्वागत के लिए सारी तैयारियां की है। शहर की साफ-सफाई समेत होटल की व्यवस्था और ऑटो रिक्शा चालकों के व्यवहार में सुधार लाने की बात पर भी जोर दिया जा रहा है। इसी के  साथ इंदौर, उज्जैन सहित आसपास के इलाकों में सुरक्षा व्यवस्था भी कड़ी कर दी गई है।