Indore : जयस के 500 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने इसलिए किया प्रकरण दर्ज !

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) से सटे मानपुर के कालिकिराय पंचायत क्षेत्र में अजनार नदी में हुए प्रदूषण के मामले में रविवार को जयस आदिवासी संगठन ने बड़ा प्रदर्शन किया था। इस प्रदर्शन के दौरान कोरोना नियमों (corona rules) की अनदेखी को लेकर पुलिस ने थाने पर जमा हुए 500 से ज्यादा लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इंदौर आईजी हरिनारायणचारि मिश्रा ने इस मामले में बताया कि पुलिस ने संबंधित मांग को लेकर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। बावजूद इसके बड़ी संख्या में लोगो ने एकत्रित होकर प्रदर्शन किया जिसके बाद पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें…MPPSC: राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा के एडमिट कार्ड जारी, 25 जुलाई को होंगे पेपर

दरअसल, रविवार को मानपुर थाने के घेराव करने वाली प्रदर्शनकारी भीड़ को कोरोना का हवाला देते हुए समझाया भी था, लेकिन लोग नहीं माने और प्रदर्शनकारियाें ने पहले मली गांव में अजनार नदी के किनारे और बाद में मानपुर थाने पर जाकर प्रदर्शन किया। इसके बाद जयस आदिवासी संगठन के कार्यकर्ताओं ने मानपुर हाईवे पर आकर प्रदर्शन किया था।

बतादें कि मानपुर इलाके में एक जमीन पर हानिकारक केमिकल डालने के मामले में पूर्व में प्रकरण दर्ज हुआ है। इसी मामले में कार्रवाई न होने का आरोप लगाते हुए जयस कार्यकर्ताओं ने थाने का घेराव किया। पुलिस का कहना है कि इस मामले में प्रकरण दर्ज कर विधिवत कार्रवाई शुरू कर दी है बावजूद इसके थाने का घेराव किया गया था ।

Indore : जयस के 500 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने इसलिए किया प्रकरण दर्ज !

जानकारी के मुताबिक प्रदर्शन के दौरान सामाजिक कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया था कि प्रशासन और पुलिस दोनों ही अब असली दोषियों को बचाने का काम कर रहे हैं। स्थानीय आदिवासियों ने पुलिस के आला अधिकारियों को बताया कि मामले के असली दोषियों को बचाने के लिए पूरी रूपरेखा बनाई है, क्योंकि वे इलाके के समृद्ध उद्यमी हैं।

यह भी पढ़ें…Neemuch : जिला प्रशासन की दूसरी बार मोहित बंसल की फैक्ट्री पर छापामार कार्रवाई, फैक्ट्री को किया सील

इधर, पूरे मामले को लेकर रविवार को जयस संगठन के साथ सैकड़ों लोगों ने मानपुर थाने का घेराव कर दिया। तीन किलोमीटर तक उन्होंने पैदल मार्च निकाला और इसके बाद थाने के बाहर धरना शुरू कर दिया। प्रदर्शन में मेधा पाटकर भी शामिल थीं। पुलिस ने इस मामले को लेकर प्रदर्शनकारियों पर केस दर्ज कर लिया। उन पर आरोप है कि बिना मास्क के वो आए थे और अनुमति भी नहीं दी। समझाने के बाद भी प्रदर्शन करते रहे थे। इस कारण 600 लोगों पर प्रकरण दर्ज किया गया है। इंदौर रेंज के आईजी हरिनारायणचारि मिश्रा ने बताया कि मानपुर थाना क्षेत्र इंदौर में एक शिकायत आई थी और उस शिकायत पर पहले कार्रवाई की गई थी। उन्होंने बताया कि शिकायत में मुख्य तौर पर अजनार नदी और उसके आस पास के क्षेत्रों में औद्योगिक क्षेत्र के अवशिष्ट पदार्थ के जरिये नदियों में प्रदूषण फैलने की शिकायत आई थी और इस मामले में आईपीसी की विभिन्न धाराओं और पर्यावरण संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा चुकी थी, इसको लेकर एक संगठन के लोगो ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान वैधानिक सीमा, मास्क की अनिवार्यता सहित अन्य बातों का उल्लंघन किया गया जिसको लेकर मानपुर थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है।