mp assembly

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 18 सालों बाद विंध्य क्षेत्र से मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष (MP Assembly Speaker) के लिए गिरीश गौतम (Girish Gautam) के नाम के ऐलान के बाद अब विधानसभा उपाध्यक्ष (MP Assembly Deputy Speaker) को लेकर चर्चाएं शुरु हो गई है। प्रबल संभावना है कि कांग्रेस (Congress) की पिछली कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) की तरह शिवराज सरकार (Shivraj Government) भी उपाध्यक्ष का पद अपने पास रखेगी। इसी बीच शिवराज सरकार में ज्योतिरादित्य सिंधिया(Jyotiraditya Scindia) समर्थक कैबिनेट मंत्री (Pradyuman Singh Tomar) के उपाध्यक्ष को लेकर दिए गए एक बयान ने सियासी गलियारों में हलचल पैदा कर दी है।

यह भी पढ़े.. MP Assembly : 72 घंटे के अंदर दिवंगत कर्मचारी के बेटे को दी गई अनुकम्पा नियुक्ति

आज मुरैना (Morena) पहुंचे मध्य प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री (Energy Minister) प्रदुम्न सिंह तोमर ने कहा कि विंध्य से विधायक गिरीश गौतम को विधानसभा अध्यक्ष बनाए जाने पर में उनका स्वागत करता हूँ  ।अब विधानसभा उपाध्यक्ष (MP Assembly Deputy Speaker) बनने के लिए भी नाम सामने आएंगे और यह नाम चंबल से या फिर कहीं दूसरी जगह से आएगा। इसका फैसला पार्टी हाईकमान करेगी। हालांकि उन्होंने एक निजी चैनल से चर्चा के दौरान कहा कि विधानसभा के अध्यक्ष विंध्य से तो उपाध्यक्ष चंबल से बनना चाहिए, प्रदेश और राष्ट्रीय नेतृत्व इस पर विचार करे।

इस दौरान उन्होंने पीएसओ शैलेन्द्र सिंह सिकरवार के घर पुरानी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी पहुंचकर शोक संवेदना व्यक्त की। उसके बाद मीडिया से चर्चा करते हुए फिर दोहराया कि वे किसी भी कार्यकर्ता से स्वागत माला नहीं पहनेगें, बल्कि उसकी जगह वे 20 रुपए लेंगे। ग्वालियर (Gwalior) में माला पर 100% प्रतिबंध है। मध्य प्रदेश में भी वे माला नहीं पहनेंगे।चिंतन मनन करके माला पहनने का विचार पूरी तरह से त्याग दिया है।

यह भी पढ़े.. Employment : शिवराज सिंह चौहान का बड़ा ऐलान- मप्र में होगी अब इनकी ब्राडिंग

फिलहाल मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ग्वालियर चंबल अंचल में अपने समर्थकों के द्वारा माला नहीं पहन रहे हैं और इसके बदले वह 20 रुपये ले रहे हैं। वही मुरैना में भाजपा (BJP) कार्यकर्ता और समाजसेवी मनोज जैन के साथ पुलिस ने थाने में बंद कर मारपीट पर कहा कि पुलिस अधीक्षक से बात कर जल्द ही दोषी अधिकारियों पर कार्यवाही कराएंगे।

अवैध खनन को लेकर कहा कि मध्यप्रदेश सरकार माफियाओं के खिलाफ लगातार कार्रवाई करने में जुटी हुई है और जिला प्रशासन (Morena District Administration)  माफियाओं (Mafia) की लिस्ट तैयार कर रहा है। किसी भी माफिया को बख्शा नहीं जाएगा । चंबल से अवैध रेत उत्खनन Illegal sand quarrying) को लेकर जल्द ही ठोस निर्णय लिए जाएंगे और माफियाओं पर कार्यवाही की जाएगी, जिससे अवैध उत्खनन पर रोक लग सके।