जयपुर से लौटे विधायक पर कमलनाथ ने लगाया पहरा

इंदौर। अपने अपने विधायकों को बचाने की होड़ में लगी कांग्रेस और बीजेपी ने अपने विधायकों को सुरक्षित जगह पर पहुंचा दिए हैं। कांग्रेस ने अपने विधायकों को जयपुर भेजा है जहां उन्हें कड़ी निगरानी में रखा गया है। इसी बीच आई खबर के मुताबिक एक कांग्रेसी विधायक संजय शुक्ला गुरुवार को अचानक इंदौर वापस आ गए हैं।

बताया जा रहा है कि वो किसी पारिवारिक समारोह में शामिल होने आए हैं लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कोई रिस्क नहीं लेना चाहते इसलिये विधायक संजय शुक्ला को प्रदेश अध्यक्ष विनय वाकलीवाल की कड़ी निगरानी में रखा गया है। विनय पूरे समय संजय शुक्ला के साथ ही बने हुए हैं। हालांकि संजय शुक्ला ने कहा कि मैं कांग्रेस में हूं और हमेशा कांग्रेस में ही रहूंगा।

विधायक संजय शुक्ला ने बताया कि हमारे 84 विधायक जयपुर में है और हम लोग मुख्यमंत्री कमलनाथ को ही समर्थन करेंगे। हमारे सभी विधायकों के फोन चल रहे हैं तथा सभी विधायक लगातार मीडिया से चर्चा भी कर रहे है। उन्होने कहा कि बेंगलुरु में बैठे विधायकों को तो मीडिया से बात भी नहीं करने दी जा रही है। वह तो यहां तक दावा कर रहे हैं कि सिंधिया के समर्थन वाला वीडियो भी पुराना है। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि बीजेपी ने बेंगलुरु में सभी विधायकों को कैद कर रखा है।

संजय शुक्ला ने यह भी बयान दिया है कि वह बीजेपी में नहीं शामिल होंगे क्योंकि कांग्रेस ने उन्हें हमेशा सम्मान दिया है। कांग्रेस के ही कारण एएसयूआई के अध्यक्ष से लेकर दो बार पार्षद और फिर विधायक का पद मिला है। उन्होने कहा कि “मैं इस पार्टी को कभी नहीं छोडूंगा मेरे बारे में किसी भी प्रकार की गलत अफवाह ना फैलाएं, मैं कांग्रेस में हूं और कांग्रेस में ही रहूंगा।”