मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया की अधिकारियों को दो टूक- लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी

महेंद्र सिंह सिसोदिया ने विभागीय समीक्षा में अधिकारियों (Officers) को स्पष्ट निर्देश दिए कि लंबित निर्माण कार्य गुणवत्ता के साथ पूर्ण करें। निर्माण कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया (Panchayat and Rural Development Minister Mahendra Singh Sisodia) ने विभागीय समीक्षा में अधिकारियों (Officers) को स्पष्ट निर्देश दिए कि लंबित निर्माण कार्य गुणवत्ता के साथ पूर्ण करें। निर्माण कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने पिछली बैठक में लिए गए निर्णय और विभाग की अन्य विकास एवं हितग्राही मुल्क योजनाओं की समीक्षा भी की। बैठक में राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल (Ramkhelavan Patel) भी उपस्थित थे।

मंत्री सिसोदिया ने कहा कि प्रदेश में प्रत्येक में शांति धाम, स्कूलों (School) की बाउंड्री वॉल, गौशालाओं का निर्माण कार्य एवं प्रदेश में बच्चों के लिए मध्यान्ह भोजन के लिए डाइनिंग हॉल का निर्माण कार्य शीघ्र पूरा किया जाए। उन्होंने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की हितग्राही मुल्क योजनाओं को अंतिम पंक्ति के व्यक्ति तक पहुंचाने और लाभान्वित करने के निर्देश दिए। सभी योजनाओं के क्रियान्वयन में मैदानी अधिकारी विशेष रूचि लेकर कार्य करें। स्व-सहायता समूह को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए उन्हें अन्य योजनाओं से जोड़ें।

मंत्री सिसोदिया ने कहा कि शासन की योजनाओं और विकास कार्यों की जानकारी ग्राम सभा में रखी जाए। ग्राम सभा का आयोजन प्रत्येक 2 माह में किया जाए। ग्राम सभा की कार्यवाही की वीडियोग्राफी कराई जाए। ग्राम में चल रहे सीसी रोड में गुणवत्ता का ध्यान रखें। सिसोदिया ने मनरेगा के तहत किए जा रहे निर्माण कार्य की समीक्षा की। उन्होंने प्रदेश में खाली बंजर पड़त भूमि की जानकारी प्राप्त करने के साथ गोचर भूमि में चारागाह विकास करने, वर्मी कंपोस्ट, भू नाडेप बनाने के निर्देश दिए। इसके अलावा खेत की मेड़ों पर पेड़ लगाने के लिए कृषकों को प्रेरित करने के निर्देश दिए। अपर मुख्य सचिव मनोज श्रीवास्तव ने बैठक में बताया कि मध्य प्रदेश देश में आवास निर्माण के मामले में अव्वल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here