Suspended : महेन्द्र सिंह सिसौदिया का एक्शन-लापरवाही बरतने पर अधिकारी निलंबित

महेन्द्र सिंह सिसौदिया

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पंचायत चुनाव (Panchayat Election 2021) से पहले शासकीय योजनाओं में देरी और लापरवाही करने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों पर कार्रवाई का सिलसिला जारी है। अब प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना  (में लापरवाही बरतने पर महाप्रबंधक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। खास बात ये है कि यह कार्रवाई शिवराज सरकार (Shivraj Government) में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया (Mahendra Singh Sisodia)  द्वारा की गई है।

यह भी पढ़े.. मध्य प्रदेश के विंध्य के युवा कांग्रेस नेता का निधन, दिल्ली में ली अंतिम सांस

दरअसल, मध्य प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana) के महाप्रबंधक पी.के. गुप्ता को वित्तीय अनियमितता के कारण तत्काल प्रभाव से निलंबित दिया है।पी.के. गुप्ता ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के पैकेज क्रमांक 4591 में ठेकेदार  वीरेन्द्र रघुवंशी से करोड़ों रूपये की वसूली न कर ठेकेदार के अन्य निर्माण कार्यों के नियमित भुगतान किये थे।

प्रकरण महेन्द्र सिंह सिसौदिया के सीधे संज्ञान में आने के बाद यह कार्रवाई की गई है। वही प्रकरण के दोषी अन्य अधिकारी और कर्मचारियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए गए है।आपको बता दे कि सिसौदिया ज्योतिरादित्य सिंधिया(Jyotiraditya Scindia) समर्थकों में से एक है।

यह भी पढ़े.. दमोह उपचुनाव 2021: कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन का नोट बांटते वीडियो वायरल, मचा हड़कंप

बता दे कि भारत सरकार ने 25 दिसंबर 2000 को PMGSY की शुरुआत की थी। इस योजना का प्रमुख उद्देश्‍य ग्रामीण इलाकों में 500 या इससे अधिक आबादी वाले (पहाड़ी और रेगिस्‍तानी क्षेत्रों में 250 लोगों की आबादी वाले गांव) सड़क-संपर्क से वंचित गांवों को बारहमासी सड़कों से जोड़ना है। तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) सरकार के वक्त से ही इसका नाम प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना है।