मप्र में एक्टिव केस 68 हजार पार, सामने आया शिवराज सिंह चौहान का बड़ा फैसला

शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना का संकट अत्यंत विकट है, यह एक युद्ध है जिसमें सबको सारे मतभेद भुलाकर एकजुट होकर लड़ना पड़ेगा।

पीवी सिंधु शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते आंकड़ों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) का बड़ा बयान सामने आया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना के इलाज में निजी अस्पतालों (Private Hospital) की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। यदि इस समय कोई निजी अस्पताल चालू करना चाहता है, तो उसे शासकीय भवन व अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। इन्दौर में राधा स्वामी सत्संग व्यास द्वारा एक बड़ा CCC प्रारंभ किया गया है।

यह भी पढ़े.. कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान चौहान का बड़ा फैसला

शिवराज सिंह चौहान ने आगे ट्वीट कर लिखा है कि आगामी 30 अप्रैल तक प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति 700 एमटी हो जाएगी। इसके लिए केन्द्र सरकार को धन्यवाद भी दिया। इसके अलावा जिलों में छोटे-छोटे ऑक्सीजन प्लांट प्रारंभ किए जा रहे हैं, तथा बड़ी संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी भिजवाए जा रहे है।कोरोना वालेंटियर्स कोरोना के नियंत्रण में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। सेवा का इच्छुक कोई भी व्यक्ति 181 पर कॉल कर कोरोना वालेंटियर्स बन सकता है। प्रदेश में अभी तक 97 हजार 500 कोरोना वालेंटियर्स पंजीकृत हुए हैं।

यह भी पढ़े.. मप्र के कांग्रेस विधायक ने दी 2 करोड़ की आर्थिक सहायता, बोले- हर मदद के तैयार हूं

शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना का संकट अत्यंत विकट है, यह एक युद्ध है जिसमें सबको सारे मतभेद भुलाकर एकजुट होकर लड़ना पड़ेगा। सरकार अपने स्तर पर पूरे प्रयास कर रही है, परन्तु जब तक समाज का पूरा सहयोग नहीं मिलेगा, हम कोरोना को शीघ्र नियंत्रित नहीं कर पाएंगे।