युवा कांग्रेस

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh Legislative Assembly) का मानसून सत्र आगामी 26 जुलाई और महाराष्ट्र विधानसभा (Maharashtra Legislative Assembly) का 5 जुलाई से शुरू होने जा रहा है, ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि जुलाई के आखरी सप्ताह या अगस्त के पहले सप्ताह में मध्य प्रदेश में भी विधानसभा का मानसून सत्र बुलाया जा सकता है।

यह भी पढ़े.. MP College: अगस्त से खोले जा सकते है मप्र में कॉलेज, उच्च शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत

दरअसल, बीते मार्च में बजट सत्र बुलाया गया था, लेकिन हंगामे और हालातों को देखते हुए इस समय से पहले ही स्थगित कर दिया गया था, लेकिन अब सितंबर 2021 से पहले सत्र बुलाना अनिवार्य है, ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि जुलाई के आखिरी सप्ताह या अगस्त के पहले सप्ताह में मानसून सत्र (Monsoon Session 2021) बुलाया जा सकता है।हालांकि अंतिम फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Dr. Narottam Mishra) को लेना है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Update: बड़े तालाब-बरगी का जलस्तर बढ़ा, मप्र के इन जिलों में बारिश का अलर्ट

हाल ही में विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम (MP Assembly Speaker Girish Gautam) ने भी इसके संकेत दिए थे और कहा था कि जुलाई के अंतिम सप्ताह और अगस्त के पहले सप्ताह तक विधानसभा का मानसून सत्र शुरु हो सकता है। कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए सत्र को आयोजित किया जा सकता है। इस मानसून सत्र में वित्त विभाग द्वारा प्रथम अनुपूरक अनुमान प्रस्तुत पेश किया जा सकता है, जिसमें कोरोना की व्यवस्थाओं में हुए खर्च के लिए प्रविधान किए जाएंगे।इसके अलावा कई अन्य बजटों को भी रखा जा सकता है।