MP College

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। लंबे समय से बंद पडे मध्य प्रदेश के कॉलेज (MP College) अब खुलने वाले है।वर्तमान हालातों को देखते हुए मध्य प्रदेश का उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department) इसकी तैयारियों में जुट गया है। आज उज्जैन पहुंचे उच्च शिक्षा मंत्री डॉक्टर मोहन यादव ने अगस्त में कॉलेज (MP College Reopen) खोलने के संकेत दिए है, हालांकि अंतिम फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा लिया जाएगा। संभावना जताई जा रही है कि अगस्त 2021 (August 2021) से मध्य प्रदेश में कॉलेजों को फिर से खोला जा सकता है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Update: बड़े तालाब-बरगी का जलस्तर बढ़ा, मप्र के इन जिलों में बारिश का अलर्ट

दरअसल, आज रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की मन की बात कार्यक्रम (Man Ki Baat) में शामिल होने उज्जैन पहुंचे उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव (Higher Education Minister Dr. Mohan Yadav)  ने कहा कि हालात सामान्य होने लगे है, ऐसे में हमारी कॉलेज खोलने की पूरी तैयारी है। जल्द कैबिनेट की बैठक में इसका प्रस्ताव मुख्यमंत्री के सामने रखेंगे, इसके बाद फैसला होगा कि कॉलेज कब से खोले जाएंगे। हालांकि संभावना जताई जा रही है कि अगस्त मे कॉलेज खोलने पर सहमति बन सकती है।

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि अगर हालात सामान्य रहे तो अगस्त से प्रदेश के सभी काॅलेज खोल दिए जाएंगे।लेकिन सभी छात्रों (MP College Student) और शिक्षकों को कोरोना गाइडलाइन (Coronavirus Guideline) का पालन करना होगा। वही बिना वैक्सीनेशन के किसी को भी काॅलेज में प्रवेश नहीं मिलेगा।इसके लिए सभी को वैक्सीनेशन (vaccination) सर्टिफिकेट दिखाना जरूरी होगा। शुरुआत में 50 % स्टॉफ के साथ कॉलेजों को खोल दिया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करके ही कॉलेजों में पढ़ाई हो सकेगी। इस संबंध में कैबिनेट की बैठक में अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री द्वारा लिया जाएगा।

यह भी पढ़े.. MP School: नए सत्र से पहले छात्रों के लिए बड़ी खबर, ऐसा नहीं किया तो आवेदन होगा निरस्त

पिछले दिनों प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)  ने कहा था कि स्कूल, कॉलेज व अन्य शिक्षण संस्थानों को ज्यादा दिन बंद नहीं रखा जा सकता,  इसलिए वैक्सीनेशन जरूरी है। वहीं मंत्री परिषद की बैठक में भी बात सामने आई कि वैक्सीनेशन की संख्या अगर बढ़ती है तो स्कूल (MP School), कॉलेज खोले जाएंगे।हाल ही में मंत्री समूह की बैठक में भी इस पर सहमति दिखाई दी थी, हालांकि अंतिम फैसला मुख्यमंत्री द्वारा लिया जाएगा।

वही उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव आगर-मालवा के नलखेड़ा शासकीय कॉलेज (Government Collage) में विश्व बैंक परियोजना के अंतर्गत लगभग 131 लाख लागत के अतिरिक्त कक्षों के निर्माण कार्य के लिये भूमि-पूजन भी करने पहुंचे थे।इस मौके पर उन्होंने कहा कि सरकार ने हर वर्ग के विकास के लिये नई-नई योजनाओं को धरातल पर उतारा है। युवा शक्ति के विकास के लिये नई शिक्षा नीति (new education policy)  बनाई गई है। पढ़ाई इस प्रकार कराई जायेगी ताकि युवा उन्हें प्राप्त कर शिक्षा के जरिये रोजगार (Employment) भी हासिल कर सकें।

यह भी पढ़े.. सरकारी नौकरी 2021: यहां 1000 से ज्यादा पदों पर निकली है भर्तियां, अच्छी मिलेगी सैलरी

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि उच्च शिक्षा के विकास के लिए आवश्यक संसाधनों की पूर्ति सरकार द्वारा की जा रही है और आगे भी शिक्षा के विकास में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। कोरोना काल में शैक्षणिक गतिविधियाँ प्रभावित होने पर सरकार द्वारा शिक्षा को ऑनलाईन निरंतर किया गया।मध्यप्रदेश में पाँच मेडिकल कॉलेज (Medical Collge) खोले जाने वाले हैं।शिक्षा के क्षेत्र में जिले में नित नये काम किये जा रहे हैं। जिले में एग्रीकल्चर, हार्टिकल्चर तथा गौ-वंश से सम्बंधित कोर्स खोलने की अपार संभावनाएँ हैं। सभी महाविद्यालयों में परम्परागत कोर्स के साथ प्रौफेशनल कोर्स भी खोले जाऐंगे, जिससे स्थानीय विद्यार्थियों को लाभ मिल सकेगा।