MP: चुनाव से पहले भाजपा में फेरबदल के संकेत, बदले जा सकते हैं कई जिलाध्यक्ष

mp-Before-the-election-signs-of-shuffle-in-BJP-can-be-changed-many-district-presidents

भोपाल| मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद भाजपा संगठन में बदलाव के संकेत मिल रहे हैं| लोकसभा चुनाव की तैयारियों के सम्बन्ध में भोपाल में हुई बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल ने प्रदेश अध्यक्ष को बदलाव के लिए फ्री हैंड दे दिया है| रामलाल ने पार्टी पदाधिकारियों और जिलाध्यक्षों को संकेत दिए कि लोकसभा चुनाव के नजरिए से संगठन में फेरबदल किया जाएगा। सभी लोग मानसिक रूप से तैयार रहें। इसके लिए उन्होंने प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह को अधिकृत किया।

विधानसभा चुनाव में हार के बाद से ही भाजपा संगठन में फेरबदल के कयास लगाए जा रहे थे| लेकिन ऐसा नहीं हुआ| लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर हार का बड़ा असर देखने को मिल रहा है| पिछले चुनाव में कई जिला अध्यक्षों और पार्टी पदाधिकारियों की कार्यशैली से राष्ट्रीय संगठन नाराज है| ऐसे कई नेताओं की रिपोर्ट भी हाई कमान तक पहुंची है| जिसके बाद बुधवार को हुई बैठक में रामलाल ने कुछ ज़िलों में संगठन के कामकाज को लेकर नाराज़गी भी ज़ाहिर की है| बैठक में तय हुआ है कि चुनाव से पहले जिन ज़िलों में ज़रूरत होगी वहां संगठन में बदलाव होगा| बैठक में रामलाल ने पदाधिकारियों से कहा है कि फेरबदल के लिए मानसिक रूप से तैयार रहे|  इसके लिए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को फ्री हैंड मिला है, जिसके बाद वह अपने हिसाब से टीम तैयार कर सकते हैं| प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने नियुक्ति के बाद नई टीम नहीं बनाई है। वे पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान की टीम के साथ ही काम कर रहे हैं। जिसके बाद संभावना है कई जिलों में फेरबदल देखा जा सकता है| कई जिला अध्यक्ष बदले जा सकते हैं|  प्रदेश पदाधिकारी और कार्यकारणी में भी बड़ा बदलाव हो सकता है| 

पार्टी ने लोकसभा चुनाव प्रभारियों, संयोजकों और जिलाध्यक्षों को दो मार्च तक के कार्यक्रम भी सौंप दिए हैं। इस दौरान भाजपा का घर-घर अभियान भी चलाया जाएगा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आठ फरवरी को भोपाल दौरे के जवाब में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सागर में 10 फरवरी को आ सकते हैं। पीएम मोदी 28 फरवरी को देशभर में कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे| विधानसभा चुनाव की तर्ज पर लोकसभा चुनाव में भी संकल्प पत्र तैयार करने के लिए सुझाव लिए जाएंगे|सुझाव के लिए विधानसभा स्तर पर वीडियो रथ और पेटियां लगायी जाएंगी| वहीं एससी, एसटी, युवा और महिला मोर्चा के कार्यक्रम भी तय किये गए हैं|